एक प्रेरणादायक कहानी - देने का आनंद , One Motivational Story Enjoyment of Giving
एक प्रेरणादायक कहानी - देने का आनंद , One Motivational Story Enjoyment of Giving

एक प्रेरणादायक कहानी – देने का आनंद – One Motivational Story Enjoyment of Giving

एक प्रेरणादायक कहानीदेने का आनंद – One Motivational Story Enjoyment of Giving

एक बार एक शिक्षक (teacher) संपन्न परिवार से सम्बन्ध (relation) रखने वाले एक युवा शिष्य (young students) के साथ कहीं टहलने (outing) निकले. उन्होंने देखा (he saw) की रास्ते में पुराने हो चुके एक जोड़ी जूते (old pair of shoes) उतरे पड़े हैं , जो संभवतः पास के खेत (farm) में काम कर रहे गरीब मजदूर (poor laborer) के थे जो अब अपना काम ख़त्म कर घर वापस जाने (packing for going home) की तयारी कर रहा था .शिष्य को मजाक सूझा (think a joke) उसने शिक्षक से कहा , “ गुरु जी क्यों न हम ये जूते कहीं छिपा (hide the shoes) कर झाड़ियों के पीछे छिप जाएं ; जब वो मजदूर इन्हें यहाँ नहीं पाकर घबराएगा (we enjoy his fear) तो बड़ा मजा आएगा !!”

यह भी पढ़ें :- जानिये मॉडर्न दौर के स्टाइलिश और ट्रेंडी वर्कआउट्स

खरीदे हिंदी प्रेरणादायक कहानी की किताबें Click Here To Buy Hindi Motivation Books

शिक्षक गंभीरता (serious) से बोले , “ किसी गरीब के साथ इस तरह का भद्दा मजाक (dirty joke is not good) करना ठीक नहीं है . क्यों ना हम इन जूतों में कुछ सिक्के डाल (few coins in shoes) दें और छिप कर देखें की इसका मजदूर पर क्या प्रभाव (effect) पड़ता है !!”शिष्य ने ऐसा ही किया और दोनों पास की झाड़ियों में छुप (hide behind tree) गए .मजदूर जल्द ही अपना काम ख़त्म कर जूतों की (place of shoes) जगह पर आ गया . उसने जैसे ही एक पैर जूते (foot in shoes) में डाले उसे किसी कठोर चीज (hard thing) का आभास हुआ , उसने जल्दी से जूते हाथ (put hand in shoes) में लिए और देखा की अन्दर कुछ सिक्के (coins inside shoes) पड़े थे , उसे बड़ा आश्चर्य (shock) हुआ और वो सिक्के हाथ में लेकर बड़े गौर (checking coins) से उन्हें पलट -पलट कर देखने लगा . फिर उसने इधर -उधर देखने लगा , दूर -दूर तक कोई नज़र (did not seen anyone) नहीं आया तो उसने सिक्के अपनी जेब (coins in pocket) में डाल लिए . अब उसने दूसरा जूता (2nd shoe) उठाया , उसमे भी सिक्के पड़े थे …मजदूर भावविभोर (emotional) हो गया , उसकी आँखों में आंसू (tears in eyes) आ गए , उसने हाथ जोड़ ऊपर (seen upside) देखते हुए कहा – “हे भगवान् , समय पर प्राप्त इस सहायता के लिए उस अनजान सहायक (unknown helper) का लाख -लाख धन्यवाद , उसकी सहायता (help) और दयालुता (kindness) के कारण आज मेरी बीमार पत्नी (medicine for wife) को दवा और भूखें बच्चों को रोटी (food for childrens) मिल सकेगी .”

जानिये बिल गेट्स के 11 नियम जो आपको जिंदगी में कभी भी विफल नहीं होने देंगे

खरीदे हिंदी पड़ने लिखने, बिजनेस में सफलता की कहानियों की किताबें Click Here To Buy Topper Motivation Books in Hindi

मजदूर की बातें सुन शिष्य की (tears in eyes of student) आँखें भर आयीं . शिक्षक ने शिष्य से कहा – “ क्या तुम्हारी मजाक (joke) वाली बात की अपेक्षा जूते में सिक्का डालने से तुम्हे (less happiness?) कम ख़ुशी मिली ?” शिष्य बोला , “ आपने आज मुझे जो पाठ (lesson you teach me) पढाया है , उसे मैं जीवन भर (will never forgot this for life) नहीं भूलूंगा . आज मैं उन शब्दों का मतलब (understand the meaning of words) समझ गया हूँ जिन्हें मैं पहले कभी नहीं समझ पाया था कि लेने की अपेक्षा देना कहीं अधिक (more better then giving pain) आनंददायी है . देने का आनंद असीम है!

Kahani, kahaniya, hindi kahaniya, hindi kahani, stories in hindi, kahaniyan, motivational and inspirational kahaniya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

       

       
x

Check Also

Unknown Failures Stories of Successful People , सफल लोगों की असफलता की अनकही और अनसुनी कहानियां

Unknown Failures Stories of Successful People – सफल लोगों की असफलता की अनकही और अनसुनी कहानियां

Unknown Failures Stories of Successful People – सफल लोगों की असफलता की अनकही और अनसुनी ...