ख़ूबसूरत टीचर और शादी , Beautiful Teacher and Marriage
Heart Touching Stories in Hindi Hindi Kahani Hindi Story Motivational Story In Hindi

ख़ूबसूरत टीचर और शादी – Beautiful Teacher and Marriage

ख़ूबसूरत टीचर और शादी – Beautiful Teacher and Marriage

लड़कियों के स्कूल (girls school) में आने वाली नई टीचर ख़ूबसूरत (new teacher) और शैक्षणिक तौर पर भी (strong from study part) मज़बूत थी, लेकिन उसने अभी तक शादी (but not married) नहीं की थी…। (ख़ूबसूरत टीचर और शादी)

एक दिन सब लड़कियाँ (all school girls) उसके इर्द-गिर्द जमा (stands nearby her) हो गईं और मज़ाक़ करने लगीं कि मैडम आपने अभी तक शादी (why are you not married) क्यों नहीं की…?

मैडम ने दास्तान (starts story) कुछ यूँ शुरू की:-

एक महिला की पाँच बेटियाँ (5 daughters) थीं, पति ने उसको धमकी (warning) दी कि अगर इस बार भी बेटी हुई तो उस बेटी को बाहर किसी सड़क (throw girl on road) या चौक पर फैंक आऊँगा,

ईश्वर (god wish) की मर्जी वो ही जाने कि छटी बार भी बेटी पैदा (daughter again) हुई और पति ने बेटी को उठाया और रात के अंधेरे में शहर  (on the center of the city) के बीचों-बीच चौक पर रख आया, माँ पूरी रात उस नन्ही सी जान के लिए दुआ (mother was blessing for her) करती रही और बेटी को ईश्वर के (hands to god) सुपुर्द कर दिया।

यूके में नौकरी कैसे पाए

America में नौकरी कैसे पाए

दूसरे दिन सुबह (next morning) पिता जब चौक से गुज़रा तो देखा कि बच्ची (no one take the child) को कोई ले नहीं गया!!!

बाप, बेटी को वापस घर लाया (take back her to home) लेकिन दूसरी रात फिर बेटी को चौक पर (he was doing this every night) रख आया! रोज यही होता रहा हर बार पिता बाहर रख (took her out) आता और जब कोई लेकर ना जाता तो मजबूरन वापस उठा (take her back again)  लाता!

यहाँतक कि उसका पिता थक गया और ईश्वर की मर्जी (accepts the god’s wish) पर राज़ी हो गया। फिर ईश्वर ने कुछ ऐसा किया कि एक साल बाद माँ फिर पेट (pregnant again) से हो गई और इस बार उनको बेटा (son) हुआ, लेकिन कुछ ही दिन बाद बेटियों में से एक की मौत (death of a daughter) भी हो गई!

यहाँ तक कि माँ पाँच बार पेट से हुई और (give birth to 5 sons) पाँच बेटे हुए, लेकिन हर बार उसकी बेटियों में (but all daughter we dying one by one) से एक इस दुनिया से चली जाती!

सिर्फ एक ही बेटी ज़िंदा बची (only 1 daughter was left) और वो वही बेटी थी जिससे बाप जान छुड़ाना (the same daughter) चाह रहा था, माँ भी इस दुनिया से चली गई!

इधर पाँच बेटे और एक बेटी (all boys were grown) सब बड़े हो गए… टीचर ने कहा- “पता है वो बेटी जो ज़िंदा रही, कौन है? “वो मैं हूँ” और मैंने अभी तक शादी (I did not married because) इसलिए नहीं की कारण, बाप इतने बूढ़े हो (my father is very old) गए हैं कि अपने हाथ से खाना भी नहीं खा सकते (cant even eat food by himself) और कोई दूसरा नहीं जो उनकी सेवा (Care) करें। बस मैं ही उनकी खिदमत किया करती हूँ और वो पाँच बेटे (all 5 sons coming occasionally) कभी-कभी आकर पिता का हालचाल (well being) पूछ जाते हैं। (ख़ूबसूरत टीचर और शादी)

पिता हमेशा शर्मिंदगी (crying with guilty) के साथ रो रो कर मुझ से कहा करते हैं, मेरी प्यारी बेटी जो कुछ मैंने बचपन (in childhood) में तेरे साथ किया उस पर मुझे माफ (forgive me for that) करना.

Hindi Kahaniya   | Kahaniya in Hindi  | Pari ki Kahani  | Moral Stories in Hindi  | Parilok ki Kahani  | Jadui Pariyon ki Kahani | Pari ki Kahani in Hindi | Prernadayak Kahaniya | Motivational Stories in Hindi | Thumbelina Story in Hindi | Rapunzel ki Kahani | Cinderella ki Kahani | Bhoot ki Kahani | Pariyon ki Kahani | Jadui Chakki Ki Kahani | Short Moral Stories in Hindi | Prernadayak Kahani in Hindi for Students | Motivational Story in Hindi | Short Moral Story in Hindi

15 Simple Tips to build confidence in kids

10 Prernadayak Suvichar Jo Zindagi Badal Denge | 10 प्रेरणादायक सुविचार जो जिंदगी बदल दे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *