जादुई चक्की की कहानी | Jadui Chakki Ki Kahani Hindi Moral Story
Hindi Kahani Hindi Story Motivational Story In Hindi

जादुई चक्की की कहानी | Jadui Chakki Ki Kahani Hindi Moral Story

जादुई चक्की की कहानी | Jadui Chakki Ki Kahani Hindi Moral Story

नमस्कार दोस्तों, आज हम आपके लिए लेकर आये है जादुई चक्की की कहानी | Jadui Chakki Hindi Moral Story. उम्मीद है यह कहानी आपको बेहद पसंद आएगी.

सभी माता पिता (Parent’s) अपने children’s को हमेशा अच्छी बाते और अच्छी आदते ही सीखना चाहते है। लेकिन ऐसा करना इतना आसान भी नहीं होता, कम वक़्त और भागदौड़ भरी ज़िन्दगी जीवन में बड़ी रुकावट होती है। परन्तु हमारी website Prerndayak इस काम में आपके बेहद काम आ सकती है.

तो देर किस बात की, चलिए शुरू करते है जादुई चक्की की कहानी । यह प्रेरणादायक कहानी आपको जीवन का एक बड़ा सबक सिखाएगीं। तो चलिए Jadui Chakki की entertainment and motivation से भरी दुनिया में चलते है।

एक भरतपुर नाम के गाँव में दो brothers रहते थे। बड़े भाई का नाम राज और छोटे भाई का नाम शिवम् था। परन्तु उनकी आपसी मनमुटाव एवं रंजिश के कारण दोनों भाई अपने परिवार के साथ अलग-अलग रहना पसंद करते थे।

राज का परिवार बहुत ही शान-ओ-शौकत (royal way) के साथ गाँव में रहता था। उसके पास रूपये, पैसे, धन और दौलत की किसी प्रकार से कोई कमी नहीं थी।

Two Brother in Jadui Chakki Story

वही दूसरी तरफ उसका भाई शिवम् बेहद गरीब था। और शिवम् के लिए अपने परिवार के लिए दो वक्त की रोटी का इंतजाम करना भी बेहद मुश्किल होता था।

एक दिन शिवम् के घर पर कुछ भी खाने के लिए नहीं बचा था, शिवम् की पत्नी उसे अपने भाई राज के घर से मदद के लिए कहती है।

जैसे ही राज शिवम् को अपने घर पर आते हुए देखता है वह गुस्से से जल भुनकर आग बबूला हो जाता है। और वह अपने भाई शिवम् को बहुत कुछ भरा बुरा कहता है और उसे उसी वक़्त वहाँ से चले जाने के लिए कहता है।

इतना सब सुन उल्टा सुनकर शिवम् अपने घर के लिए वापिस लौट कर जाने लगता है। घर पर लौटते वक़्त शिवम् को रास्ते में उसे एक बूढ़ा आदमी मिलता है।

वह बूढ़ा आदमी अकेले ही एक लकड़ी के एक को उठाने की व्यर्थ कोशिश कर रहा होता है। लेकिन बहुत बार कोशिश करने के बाद भी वह सफल नहीं हो पता है। यह देखकर शिवम् उस बुजुर्ग के पास जाता है और उसे मदद करने लगता है।

बूढ़ा आदमी शिवम् को अपने घर पर उस लकड़ी के उस गठ्ठे को उत्थाक्र ले जाने के लिए मदद मांगता है। शिवम् के मददगार स्वभाव होने के कारण वह उस लकड़ी के गठ्ठे को उठाकर अपने चौड़े कंधे पर लाद लेता है और उस बूढ़े आदमी के साथ उसके घर चल पड़ता है।

रास्ते भर में जाते हुए वह बूढ़ा आदमी शिवम् के उदास और परेशान चेहरे की और देखता रहता है। और बूढ़े आदमी ने घर पहुँचने पर शिवम् से उसकी उदासी का कारण पूछता। और शिवम् उस बूढ़े आदमी को अपनी गरीबी से त्रस्त जीवन के बारे में उस बूढ़े आदमी को सबकुछ बता देता है।

शिवम् की दर्दभरी व्यथा सुनकर बूढ़ा आदमी शिवम् को एक जादुई चक्की (Jadui Chakki) के बारे में विस्तार से बताता है। और शिवम् को कहता है की यह Jadui Chakki तुम्हारी सभी प्रकार की problem को solve कर देगा। परन्तु उस जादुई चक्की को पाने के लिए उसे जंगल (jungle) जाना होगा।

उस जंगल (jungle) में तुम्हे आम के चार पेड़ मिलेंगे, और उन चार आम के पेड़ो के पीछे तुम्हे एक गुफा मिलेगी जहाँ पर तीन बौने लोग रहते है। और उन्ही के पास वो जादुई चक्की है जो तुम्हारी सभी प्रकार की समस्या को आसानी से हल कर देगी।

उस जादुई चक्की को पाने के लिए तुम्हे उन तीन बोंनो को एक-एक मीठी रोटी देनी होगी जो की उन्हें बेहद पसंद है।

Three Dwarf of Jadui Chakki Story

शिवम् उस बूढे आदमी की सभी बातो को बेहद ध्यान से सुनता है। और ठीक बूढ़े आदमी के द्वारा बताये गए तरीके से ही उसे वह जादुई चक्की मिल जाती है।

शिवम् को चक्की देते समय उनमे से एक बौना शिवम् को बताता है। के तुम इस चक्की को उसके बताये गए तरीके से घुमा कर जो कुछ भी चक्की से मागोगे वह तुम्हे मिल जाएगा। लेकिन इस जादुई चक्की को रोकने के लिए तुम्हे चक्की को एक सुनहरे कपड़े से पूरी तरह से ढकना होगा।

बौने की हां में हां मिलकर शिवम् उस जादुई चक्की को घर ले आता है। और वह उस जादुई चक्की से जो कुछ भी मांगता उसे मिल जाता। उसके बाद शिवम् उस जादुई चक्की को सुनहरे कपड़े से ढक देता, जादुई चक्की से मिले आटा, दाल, और चावल सब कुछ वह बाजार में जा कर अच्छे मूल्य में बेच देता और कुछ ही दिनों में शिवम् बेहद अमीर हो जाता है।

उसको अमीर होता देखा उसका भाई राज उससे बेहद जलने लगता है। और राज यह जानने के लिए अत्यधिक उत्सुक हो जाता है की आखिर शिवम् इतना अमीर कैसे हुआ?

एक दिन राज छुप-छुपकर शिवम् के घर की खिड़की में से जादुई चक्की से सब कुछ देख लेता है। और वह शिवम् के सोने के बाद उस जादुई चक्की को चुरा लेता है परन्तु राज को जादुई चक्की को रोकने का तरीका नहीं नहीं पता होता।

जादुई चक्की को चुराने के बाद राज गाँव को छोडने की ठान लेता है। और वह अपने पूरे परिवार और जादुई चक्की के साथ गाँव को छोड़कर जाने लगता है।

राज को गाँव से निकलने के लिए एक नदी को पार करना होता है। जिसे पार करने के लिए वह अपने बीवी बच्चो सहित एक नाव में बैठ जाता है।

राज अपने लालच के कारण अपने आप को रोक नहीं पता और वह बीच नदी में ही उस जादुई चक्की को चलाकर उस चकिकी से नमक मांगने लगता है। परन्तु राज को यह नहीं पता होता की उस उस जादुई चक्की को रोके कैसे?

जादुई चक्की अपने स्वभाव के कारण नमक देना आरम्भ कर देती है। और धीरे-धीरे कर पूरी नाव में नमक से भर जाती है।

नाव में नमक का अत्यधिक वजन हो जाने के कारण नाव नदी के बीच में डूब जाती है। जिस कारण से राज और उसका पूरा परिवार भी उस नदी में डूब जाता है। और इस प्रकार से राज के लालच के कारण राज अपने साथ-साथ अपने पूरे परिवार को भी नदी में ले डूबता और मरर जाता है है।

Moral Lesson from Jadui Chakki Kahani in Hindi

Friends, हमे इस जादुई चक्की की कहानी प्रेरणादायक कहानी से दो सबक सिखने को मिलते है। की हमे कभी भी:

1- लालच नहीं करना चाहीये.

2- ईर्ष्या नहीं करनी चाहिए.

ईर्ष्या, द्व्सेह और जलन के कारण ही राज अपने भाई शिवम् की तरक्की से बेहद जलने लगता है। और वह उसकी जादुई चक्की को चुरा लेता है। जिस से राज के मन में लालच आ जाता है और वह चोरी से उस जादुई चक्की को हासिल कर ले तो वह और अत्यधिक धनवान बन जाएगा। और उसका भाई शिवम् फिर से पहले की तरह ही गरीब हो जाएगा और वह फिर से अपने बुरे जीवन को भुगतेगा.

लेकिन बच्चो, होता बिलकुल इसके उल्ट है, जिस कारण से जादुई चक्की को न रोक पाने के कारण पूरी नाव नमक से भर जाती है। और राज अपने पूरे परिवार के साथ नदी में डूब जाता है।

“ इसलिए लिए children’s हमे जीवन में कभी भी किसी से भी अपने जीवन से ईर्ष्या नहीं करनी चाहिए। और न ही किसी भी वस्तु का मन में लालच करना चाहिए। ”

दोस्तों, अगर आपको jadui chakki story, Jadui Chakki की कहानी, three dwarf of jadui chakki story, Jadui Chakki की कहानी से सबक,  two brother in jadui chakki story, बूढ़े आदमी की मदत, लालच का परिणाम, old man with wooden in jadui chakki story, Jadui Chakki का करिश्मा, boat filled with salt in jadui chakki story से related किसी भी प्रकार की कोई कहानी पढनी है तो comment box में लिखे.

दोस्तों, आप यह Article Prernadayak पर पढ़ रहे है. कृपया पसंद आने पर Share, Like and Comment अवश्य करे, धन्यवाद!!

Hindi Kahaniya   | Kahaniya in Hindi  | Pari ki Kahani  | Moral Stories in Hindi  | Parilok ki Kahani  | Jadui Pariyon ki Kahani | Pari ki Kahani in Hindi | Prernadayak Kahaniya | Motivational Stories in Hindi | Thumbelina Story in Hindi | Rapunzel ki Kahani | Cinderella ki Kahani | Bhoot ki Kahani | Pariyon ki KahaniShort Moral Stories in Hindi | Prernadayak Kahani in Hindi for Students | Motivational Story in Hindi | Short Moral Story in Hindi

 

Top 50 Richest People in the World – विश्व के शीर्ष 50 अरबपति

LPG Gas क्या है और Online Booking कैसे करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *