दलाई लामा के 30 आध्यात्मिक विचार | 30 Spiritual Quotes of Dalai Lama

दलाई लामा के 30 आध्यात्मिक विचार | 30 Spiritual Quotes of Dalai Lama

  1. जब कभी संभव (possible) हो दयालु बने रहिए। यह हमेशा संभव (possible) है।
  1. जब आप कुछ गंवा (lose everything) बैठते है तो उससे प्राप्त शिक्षा (study/knowledge) को न गंवाएं।
  1. एक छोटे से विवाद से एक महान रिश्ते (great relations) को घायल मत होने देना।
  1. प्रसन्नता (happiness) पहले से निर्मित कोई चीज नहीं (no) है। ये आप ही के कर्मों से आती है।
  1. सहिष्णुता के अभ्यास (practicee) में, आपका शत्रु ही आपका सबसे अच्छा शिक्षक (good teacher) होता है।
  1. अगर आप यह सोचते (think) हैं कि आप बहुत छोटे हैं तो एक मछर के साथ सोकर देखिए।
  1. जब तक हम (We) अपने आप से सुलह नहीं कर लेते तब तक दुनिया (world) से भी सुलह नहीं कर सकते।
  1. प्रेम और करुणा आवश्यकताएं (need) हैं, विलासिता नहीं उनके बिना मानवता (humanity) जीवित नहीं रह सकती।
  1. अगर आपकी कोई विशेष (special) निष्ठा या धर्म है, तो अच्छा है। लेकिन आप उसके बिना (without) भी जी सकते हैं।
  1. अपनी क्षमताओं को जानकार 9by knowing) और उनमे यकीन करके ही हम एक बेहतर विश्व (better world) का निर्माण कर सकते हैं।
  1. हम बाहरी दुनिया (world) में कभी शांति नहीं पा सकते हैं, जब तक कि हम अंदर (inner peace) से शांत न हों।
  1. हम धर्म (religion) और ध्यान के बिना रह सकते हैं, लेकिन हम मानव (human) स्नेह के बिना जीवित नहीं रह सकते।
  1. अपनी क्षमताओं (capabilities) को जानकार और उनमें यकीन करके ही हम एक बेहतर विश्व (better world) का निर्माण कर सकते हैं।
  1. अगर आप दूसरों को खुश (happy) देखना चाहते है तो सहानुभूति को अपनाईये। अगर आप खुश (happy) होना चाहते हैं तो सहानुभूति अपनाईये।
  1. मंदिरों (mandir) की आवश्यकता नहीं है, न ही जटिल तत्वज्ञान की। मेरा मस्तिष्क और मेरा ह्रदय मेरे मंदिर (mandir) हैं, मेरा दर्शन दयालुता है।
  1. अगर आप दूसरों की मदद (help) कर सकते हैं, तो अवश्य करें, अगर नहीं कर सकते तो कम से कम उन्हें नुकसान (loss) नहीं पहुंचाईए।
  1. अगर आप दूसरों को प्रसन्न (happy) देखना चाहते हैं तो करुणा का भाव (emotions) रखें। अगर आप खुद प्रसन्न (happy) रहना चाहते हैं तो भी करुना का भाव (emotions) रखें।
  1. कभी-कभी लोग कुछ कहकर अपनी एक प्रभावशाली छाप (image) बना देते हैं, और कभी-कभी लोग चुप (silent) रहकर अपनी एक प्रभावशाली छाप बना देते हैं।
  1. सभी प्रमुख धार्मिक परम्पराएँ (spiritual traditions) मूल रूप से एक ही संदेश देती है-प्रेम, दया और क्षमा, महत्वपूर्ण (important) बात यह है कि ये हमारे दैनिक जीवन का हिस्सा (part of a life) होनी चाहियें।
  1. अगर आपकी कोई विशेष निष्ठा या धर्म (religion) है, तो अच्छा है। लेकिन आप उसके बिना भी जी सकते हैं।
  1. जब कभी संभव (possible) हो दयालु बने रहिए। यह हमेशा (always) संभव है।
  1. अपनी सफलता (success) को जज करो कि इसे पाने के लिए तुमने क्या खो (lose) दिया।
  1. आशावादी बनो इससे तुम अच्छा (feel good) महसूस करोगे।
  1. चुप रहना (silent) कभी-कभी सबसे अच्छा जवाब (good answer) देना है।
  1. तुम्हारा उद्देश्य किसी दुसरे से अच्छा (better) होना नहीं बल्कि जैसे तुम पहले थे उससे अच्छा (better then before) होना, होना चाहिए।
  1. एक खुला दिल (open heart) ही खुले दिमाग की तरह होता है।
  1. जब अज्ञान हमारा मास्टर (teacher) बन जाता है तो सच्ची शांति की कोई उम्मीद (possibility) नहीं रहती।
  1. एक छोटे (small argument) से विवाद से किसी भी रिश्ते (relation) को टूटने मत देना।
  1. एक सच्चा हीरो (true hero) वही होता है जो खुद के गुस्से और दुष्कर्म को परास्त (beat) करता है।
  1. समय बिना रुके (stop) बीतता चला जाता है। जब हम गलतियाँ (mistakes) करते है तो हम समय को नहीं बदल (cant change) सकते और बदलकर दोबारा कोशिश नहीं कर सकते, हम सिर्फ वर्तमान (present) समय का अच्छे से अच्छा उपयोग (use) ही कर सकते है।
,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *