प्रेरणादायक कहानी – बड़ो की बता सुने और खुद पर रखे भरोसा - Motivational Story - Always Listen Elders and Believe in Yourself
Heart Touching Stories in Hindi Hindi Kahani Hindi Story

प्रेरणादायक कहानी – बड़ो की बता सुने और खुद पर रखे भरोसा – Motivational Story – Always Listen Elders and Believe in Yourself

प्रेरणादायक कहानी – बड़ो की बता सुने और खुद पर रखे भरोसा  –  Motivational Story – Always Listen Elders and Believe in Yourself

प्रेरणादायक कहानी

*गिद्धों का एक झुण्ड (group) खाने की तलाश में भटक रहा था।*

उड़ते – उड़ते वे एक टापू (place) पे पहुँच गए।

वो जगह उनके लिए स्वर्ग (heaven) के समान थी।

हर तरफ खाने के लिए मेंढक, मछलियाँ (fishes) और समुद्री जीव मौजूद थे

और

इससे भी बड़ी बात ये थी कि…

वहां इन गिद्धों का शिकार करने वाला कोई जंगली जानवर (wild animal) नहीं था (प्रेरणादायक कहानी)

Civil Engineer Kaise Bane

Top 50 बिजनेस स्कूल

और वे बिना किसी भय (without fear) के वहां रह सकते थे।

युवा गिद्ध (young bird) कुछ ज्यादा ही उत्साहित थे, उनमे से एक बोला,

” वाह ! मजा आ गया, अब तो मैं यहाँ से कहीं नहीं जाने वाला, यहाँ तो बिना किसी मेहनत (without any hard work) के ही हमें बैठे -बैठे खाने को मिल रहा है!”

बाकी गिद्ध भी उसकी हाँ में हाँ मिला (enjoy with happiness) ख़ुशी से झूमने लगे।

सबके दिन मौज -मस्ती (enjoying) में बीत रहे थे

लेकिन झुण्ड का सबसे बूढ़ा गिद्ध (old bird) इससे खुश नहीं था।

एक दिन अपनी चिंता (tell his problem) जाहिर करते हुए वो बोला,

*” भाइयों, हम गिद्ध हैं, हमें हमारी ऊँची उड़ान (flying high) और अचूक वार करने की ताकत (strength) के लिए जाना जाता है।*

पर जबसे हम यहाँ आये हैं हर कोई आराम तलब (doing rest only) हो गया है …

*ऊँची उड़ान (flying high) तो दूर ज्यादातर गिद्ध तो कई महीनो से उड़े (not fly from months) तक नहीं हैं…*

और आसानी से मिलने वाले भोजन (easy available food) की वजह से अब हम सब शिकार करना भी भूल रहे हैं …

ये हमारे भविष्य (not good for our future) के लिए अच्छा नहीं है …

*मैंने फैसला किया है कि मैं इस टापू को छोड़ (living this place) वापस उन पुराने जंगलो में लौट जाऊँगा …*

अगर मेरे साथ कोई चलना (anybody want to come ith me) चाहे तो चल सकता है !”

बूढ़े गिद्ध की बात सुन बाकी (all start laughing) गिद्ध हंसने लगे।

किसी ने उसे पागल (mental) कहा तो कोई उसे मूर्ख (stupid) की उपाधि देने लगा।

बेचारा बूढ़ा गिद्ध (old vulture) अकेले ही वापस लौट गया। (प्रेरणादायक कहानी)

समय बीता,

कुछ वर्षों बाद बूढ़े गिद्ध (old vird) ने सोचा,

” ना जाने मैं अब कितने दिन जीवित (living) रहूँ, क्यों न एक बार चल कर अपने पुराने साथियों (old friends) से मिल लिया जाए!”

*लम्बी यात्रा (long traveling) के बाद जब वो टापू पे पहुंचा तो वहां का दृश्य भयावह (dangerous situation) था।*

ज्यादातर गिद्ध मारे (died) जा चुके थे और जो बचे थे वे बुरी तरह घायल (badly injured) थे।

“ये कैसे हो गया ?”, बूढ़े गिद्ध (old bird) ने पूछा।

कराहते हुए एक घायल (injured bird) गिद्ध बोला,

“हमे क्षमा (forgive us) कीजियेगा, हमने आपकी बातों को गंभीरता से नहीं (not taken you seriously) लिया और आपका मजाक तक उड़ाया …

दरअसल, आपके जाने के कुछ महीनो बाद एक बड़ी सी जहाज (big ship) इस टापू पे आई …

और चीतों का एक दल (group of tigers) यहाँ छोड़ गयी।

चीतों ने पहले तो हम पर हमला (did not attack) नहीं किया,

Chandrayaan 2 Facts in Hindi | चंद्रयान 2 से जुड़े 50 रोचक तथ्य

9xRockers 2020

पर …………….

*जैसे ही उन्हें पता चला कि हम सब न ऊँचा उड़ (cant fly high) सकते हैं और न अपने पंजो से हमला (attack) कर सकते हैं…*

उन्होंने हमे खाना शुरू (start eating us) कर दिया।

अब हमारी आबादी खत्म (finish) होने की कगार पर है ..

बस हम जैसे कुछ घायल गिद्ध (injured vultures) ही ज़िंदा बचे हैं !” (प्रेरणादायक कहानी)

बूढ़ा गिद्ध (old bird) उन्हें देखकर बस अफ़सोस कर सकता था, वो वापस जंगलों की तरफ (fly again to forest) उड़ चला।

दोस्तों,

*अगर हम अपनी किसी शक्ति का उपयोग (not using power) नहीं करते तो धीरे-धीरे हम उसे गँवा देते हैं।*

जैसे की अगर हम अपने दिमाग का उपयोग (not using brain) नहीं करते तो उसकी sharpness घटती जाती है,

अगर हम अपनी muscles का उपयोग नही करते तो उनकी strength घट जाती है…

इसी तरह अगर हम अपनी skills को polish नहीं करते तो हमारी काम करने की क्षमता कम (reduces the capability) होती जाती है!

*तेजी से बदलती इस दुनिया (world) में हमें खुद को बदलाव के लिए तैयार रखना चाहिए।*

पर ……………….

*बहुत बार हम अपनी current job या business में इतने comfortable हो जाते हैं कि change के बारे में सोचते ही नहीं |*

और अपने अन्दर कोई नयी skills add नहीं करते,

अपनी knowledge बढ़ाने के लिए कोई book reading nahi karte

कोई training program नहीं attend करते,

यहाँ तक की हम उन चीजों (things) में भी dull हो जाते हैं जिनकी वजह से कभी हमे जाना जाता था

और फिर जब market conditions change होती हैं

और

हमारी नौकरी या बिज़नेस (job or business) पे आंच आती है तो हम हालात को दोष (blaming situations) देने लगते हैं।

ऐसा मत करिए…

अपनी काबिलियत, अपनी ताकत (strength) को जिंदा रखिये…

*अपने कौशल, अपने हुनर को और तराशिये (polish)…*

उस पर धूल मत जमने दीजिये…

दोस्तों, आप यह Article Prernadayak पर पढ़ रहे है. कृपया पसंद आने पर Share, Like and Comment अवश्य करे, धन्यवाद!!

Hindi Kahaniya   | Kahaniya in Hindi  | Pari ki Kahani  | Moral Stories in Hindi  | Parilok ki Kahani  | Jadui Pariyon ki Kahani | Pari ki Kahani in Hindi | Prernadayak Kahaniya | Motivational Stories in Hindi | Thumbelina Story in Hindi | Rapunzel ki Kahani | Cinderella ki Kahani | Bhoot ki Kahani | Pariyon ki Kahani | Jadui Chakki Ki Kahani | Short Moral Stories in Hindi | Prernadayak Kahani in Hindi for Students | Motivational Story in Hindi | Short Moral Story in Hindi

 

5 चीजें जो है स्वस्थ और सफेद दांतों के लिए खतरा

Safalta Par 10 Anmol Vichar | सफलता पर 10 अनमोल विचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *