फास्टैग क्या है, इसके फायदे और नुक्सान एवं अन्य जानकारी | Everything about FASTag
HindiMe India News

फास्टैग क्या है, इसके फायदे और नुक्सान एवं अन्य जानकारी | Everything about FASTag

फास्टैग क्या है? | What is FasTag?

नमस्कार दोस्तों, हम आपके सामने सर से प्रस्तुत है एक नै पोस्ट लेकर, जिसमें आज हम आपको FASTag से जुडी हर जानकारी प्रदान करने वाले है, तो चलिए शुरू करते है पोस्ट.

दोस्तों फास्टैग (FASTag) एक instrument होता है जो vehicle के सामने वाले windshield glass पर लगाया जाता है। और इसमें रेडियो फ्रिकवेंसी आईडेंटिफिकेशन (Radio Frequency identification) (आर एफ आई डी – RFD) लगा होता है. जैसे ही आप की गाड़ी Toll Plaza के पास आ जाती है,  तो टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर लगा censor आपके वाहन (Vehicle) के Wind Screen में लगे फास्टैग (FASTag) के contact में आते ही,  आपके FASTag account से उस टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर लगने वाली fees deduct कर लेता और आप बिना Toll Plaza पर रुके अपना Toll Tax pay कर देते हैं .

वाहन (Vehicle) में लगा यह टैग,  आपके prepaid account के active होते ही अपना work start कर देगा. वहीं जब आपके फास्टैग (FASTag) account की राशि finish हो जाएगी,  तो आपको उसे फिर से only recharge करवाना पड़ेगा. फास्टैग (FASTag) की validity 5 year की होगी यानी 5 year के बाद आपको नया फास्टैग (new FASTag) अपनी vehicle पर लगवाना होगा.

युपीएससी क्या है और कैसे करे? UPSC Kya Hai Aur Kaise Kare?

फास्टैग क्या है और यह कैसे काम करता है? | What is FASTag and How it Works?

फास्टैग ईलक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन तकनीक (FASTag Electric Toll Collection technique) है। इसमें Radio Frequency Identification (RFID) का use होता है।

यह एक chip की तरह होता है फास्टैग (FASTag) को वाहन (Vehicle) के windscreen पर लगाया जाता है जैसे ही आपका vehicle टोल प्लाजा (Toll Plaza) के पास पहुँचती है तो टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर एक censor लगा होता है वो censor आपकी गाड़ी के windscreen पर लगे फास्टैग (FASTag) को scan कर लेता है और फास्टैग (FASTag) एकाउंट से toll charges cut कर लेता है। और आपको रुकना भी नही पड़ता।

आप अपने फास्टैग (FASTag) को cheque या Credit Card or Debit card और NEFT RTGS के जरीए भी recharge कर सकते है। इसमें कम से कम 100 Rupees और अधिकतम 1 lakh rupees तक का recharge कर सकते है।

कब से गाड़ियों में फ़ास्ट टैग लगवाना आवश्यक होगा? | Deadline for FASTag

15 December 2019 से सभी Toll Plaza से गुजरने वाली vehicles पर फास्ट टैग होना बेहद आवश्यक है, जिन गाडियों पे FASTag नहीं लगा होगा उन्हें Toll Plaza पर ज्यादा charges देने पड़ेंगे! इसलिए राष्ट्रीय राजमार्ग एवं सड़क परिवहन (National Highway and Road Transport) ने 15 December 2019 से all types of four wheeler को फास्ट टैग की facility से लैस होने का strict order जारी किया है। और यह confirmed किया है कि 1 December 2019 के बाद बिकने वाली सभी four wheeler vehicles को फास्ट टैग लगवाने के बाद ही customer को vehicle deliver की जाएगी।

फास्टैग के लिए देने होगा कितना पैसा | How Much Money to Pay for FASTag

Certified banks प्रत्येक FASTag के लिए maximum 100 रुपये fess ले सकते हैं, जो कि नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (National Payments Corporation of India – NPCI) द्वारा fixed किया गया है। हालांकि, notifications जारी करने वाले real tag bank द्वारा तय किए गए हैं और different banks में इसके different charges हो सकते हैं।

For example HDFC Bank 400 रुपये में फास्टैग (FASTag) दे रहा हैं। जिसमें 100 rupees टैग जारी करने की फीस, 200 rupees refundable security deposit, 100 रुपये wallet बनाते समय wallet में first recharge राशि के तौर पर ले रहे हैं।

SSC क्या है? और SSC Exam की तैयारी कैसे करें?

एक्टीवेट करना के तरीकें | How to Activate FASTag

सेल्फ-एक्टीवेशन |Self Activation

FASTag ‘बैंक-न्यूट्रल’ है, अर्थात, जब आप POS terminal या online platform से इसे खरीदते हैं तो कोई भी बैंक FASTag को pre-assign नहीं किया जाता है। ine FASTag DIY (Do-It-Yourself) based है, जहां आप ‘My FASTag mobile app में वाहन (Vehicle) के details register करके इसे खुद से ही activates कर सकते हैं। android Smartphone users Google Play Store से My FASTag app download कर सकते हैं और iPhone users, Apple store से app download कर सकते हैं।

फास्टैग के फायदे  | Benefits of FasTag

Ministry of Roads and Transport ने टोल प्लाजा (Toll Plaza) में Toll Tax देने के कारण लगने वाली गाड़ियों की लंबी लाइन (long ques) और खुले पैसे होने की problem को solve करने के लिए फास्टैग (FASTag) system को country के कई टोल प्लाजा (Toll Plaza) ऊपर शुरू किया है. फास्टैग (FASTag) की help से आपका time save के साथ-साथ आपके petrol and diesel consumption भी कम होगी.

LPG Gas क्या है और Online Booking कैसे करे

एस एम एस की होगी सुविधा | SMS Facility for FASTag

जब भी आप फास्टैग (FASTag) लगे वाहन (Vehicle) से किसी टोल प्लाजा (Toll Plaza) को पार करेंगे,  तो फास्टैग (FASTag) अकाउंट से आपका fee deduct होते ही आपके पास एक SMS आ जाएगा. SMS के जरिए आपको फास्टैग (FASTag) अकाउंट से कितनी राशि deduct की गई है उसके बारे में आपको detailed information दी जाएगी.

इन बैंकों से होगा रिचार्ज  | Bank for Recharge Fastag or Electronic Toll Collection (ETC) Account

आप Credit card,  Debit card, RTGS और Net banking के द्वारा अपने फास्टैग (FASTag) अकाउंट को फिर से जब चाहे recharge कर सकते हैं. फास्ट टैग account में कम से कम 100 Rs. और ज्यादा से ज्यादा 1,00,000 रुपए तक का recharge कराया जा सकता है.

आप किसी भी पॉइंट ऑफ सेल (POS) के अंदर आने वाले टोल प्लाजा (Toll Plaza) और agency में जाकर अपना फास्टैग (FASTag) स्टीकर और फास्टैग (FASTag) अकाउंट खुलवा सकते हैं. राष्ट्रीय हाईवेज अथॉरिटी ऑफ इंडिया (National Highways Authority of India – NHAI) की website पर जाकर आप अपने nearby point of sale की जगह पता कर सकते हैं.

Banks ने पूरे देश के सभी national Highways पर Toll tax देने को easy बनाने के लिए पेटीएम फास्टैग (FASTag) को start किया है।

Aadhar Card क्या है?

चल रही कार कंपनियों से बात |

Current time में Paytm payments bank, नए वाहन (Vehicle) खरीदने वाले customer के लिए पेटीएम फास्टैग (FASTag) available कराने की खातिर car and other four wheeler companies के साथ बात कर रहा है. इसके लिए ar dealers के साथ भी meetings चल रही है. इसमें Maruti, Hyundai, Tata, Mercedes, Renault समेत other car companies शामिल हैं.

खरीद सकते हैं ऑनलाइन | Buy FASTag Online

Paytm के मुताबिक old vehicles के लिए paytm app पर फास्टैग (FASTag) को online buy कर सकते हैं। पेटीएम फास्टैग (FASTag) का use करने वाले customer को every टोल लेनदेन में 7.5% का cashback मिलेगा। बैंक इस financial year के end तक पेटीएम फास्टैग (paytm FASTag) का use करने वाले vehicles की संख्या 10 lakhs के पार पहुंचाने की उम्मीद है।

फास्टैग लेने के लिए ज़रूरी दस्तावेज़| Required Documents for FASTag

FASTag account खोलने के वक्त आपको दिए गए एक form के साथ below-written documents को भी submit करवाने की requirement पड़ेगी,  जो इस प्रकार है-

  • वाहन (Vehicle) के पंजीकरण प्रमाण पत्र ( registration card – RC)
  • वाहन (Vehicle) मालिक का passport size photo
  • वाहन (Vehicle) मालिक के KYC documents और address proof

दोस्तों, यहाँ आपको बता दें Ministry of Road Transport and Highways ने सभी four wheeler companies और dealers को यह sure करने को कहा है, कि खरीदे जाने वाले 4 wheeler पर उसके owner द्वारा फास्ट टैग जरूर लगवाया जाए इसीलिए अब यह required है कि आपको फास्टैग (FASTag) अपने Vehicle पर लगवाना होगा.

फास्टैग को कहां लगाना पड़ेगा? | Where to Fix FASTag

अब यह question हर किसी के ज़हन में खड़ा हो रहा है के आखिर फास्टैग (FASTag) को लगाएंगे कहां? तो दोस्तों यह है इसका जवाब के फास्टैग (FASTag) को आप अपने वाहन (Vehicle) की windscreen पर लगाएंगे। यहाँ पर आपको बता दें कि काफी vehicle owners ने अपनी गाड़ियों में फास्टैग (FASTag) लगा लिया है, और अगर आपने नहीं लगाया है तो आप भी जल्द ही इसे लगवा ले.

फास्टैग (FASTag) लगाने से आपको ng ques में अपना time waste करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। जैसे ही आप टोल प्लाजा (Toll Plaza) को cross करेंगे खुद-ब-खुद paymentहो जाएगा। इससे आपका time तो save होगा ही साथ ही साथ diesel and petrol की भी बचत होगी।

SarkariResult.com क्या है?

इन बातों का रखें ध्यान रियायत का मिलेगा लाभ | Get Benefits for FASTag

आप दो या दो से अधिक vehicles पर एक साथ एक FASTag का use नहीं कर सकते, आपको 2 vehicles के लिए 2 different FASTags buy करने होंगे।

यह होगा जुर्माने का नियम | Rule for Fine

NHAI के मुताबिक, अगर किसी Commercial Vehicle पर 20 फीसदी तक overload है, तो वाहन (Vehicle) owner से दोगुना 20 से 40 फीसदी overload पर चार गुना, 40 से 60 फीसदी overload पर छह गुना, 60 से 80 फीसदी पर आठ गुना और 80 से 100 फीसदी overload पर दस गुना तक का penalty वसूली जायेगी! इसके लिए toll पर weight machine जैसे instrument लगाए जा रहे हैं, तो truck के weight का analyze करके toll money automatically deduct हो जायेगी. 

फास्टैग का रंग निर्धारित | Different Color FASTag for Different vehicles

Officers का कहना है के car, van and jeep के लिए blue color का फास्ट टैग निर्धारित किया गया है। light commercial vehicles के लिए red and yellow color, bus के लिए green and yellow color, mini bus के लिए orange color choose किया गया है।

BANK:- फास्ट टैग कार्ड प्राप्त करने के लिए Indian Government द्वारा लगभग 20 से अधिक banks की एक long list जारी की गई है जिनके जरिए आप फास्ट टैग कार्ड easily प्राप्त कर सकते हैं।

               Issuing Bank     Customer Care Helpline No.

1 Axis Bank 1800-419-8585
2 ICICI Bank 1800-2100-104
3 IDFC Bank 1800-266-9970
4 State Bank of India 1800-11-0018
5 HDFC Bank 1800-120-1243
6 Karur Vysya Bank 1800-102-1916
7 EQUITAS Small Finance Bank 1800-419-1996
8 PayTM Payments Bank Ltd 1800-102-6480
9 Kotak Mahindra Bank 1800-419-6606
10 Syndicate Bank 1800-425-0585
11 Federal Bank 1800-266-9520
12 South Indian Bank 1800-425-1809
13 Punjab National Bank 080-67295310
14 Punjab & Maharashtra Co-op Bank 1800-223-993
15 Saraswat Bank 1800-266-9545
16 Fino Payments Bank 1860-266-3466
17 City Union Bank 1800-2587200
18 Bank of Baroda 1800-1034568
19 IndusInd Bank 1860-5005004
20 Yes Bank 1800-1200
21 Union Bank 1800-222244
22 Nagpur Nagarik Sahakari Bank Ltd 1800-2667183

क्या है टिक-टॉक? | What is Tik Tok?

FASTAG BOOTH

Vehicle driver सीधा toll center पर जाकर अपना FASTag card प्राप्त कर सकते हैं। आपको almost सभी TOLL PLAZA में FASTag booth लगा मिल जायेगा और वह पर आप अपने documents submit करवा के फास्टैग (FASTag) प्राप्त कर सकते है।

ONLINE

FASTag को आप घर बैठे ही online amazon, Paytm जैसी अन्य online website से भी मंगवा सकते हो और FASTag card आपके given address पर आ जायेगा।

फास्टैग लेने के लिए कैसे ऑनलाइन अप्लाई करें? | How to Apply Online for FASTag

फास्टैग (FASTag) इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन तकनीक (Electronic Toll Collection Technology) है. इसमें रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (Radio Frequency Identification – RFID) का इस्तेमाल होता है.

Long lines में लगने और time saving को Fastag के लिए online apply करना easy है.

एक December से national Highways से गुजरने वाले सभी four wheeler पर Fastag लगाना अनिवार्य होगा. इस technique का इस्तेमाल whole India के National Highways के टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर होगा. आपके मन में यह question जरूर होगा कि इसे कैसे और कहां से लिया जाए? यहां हम आपके इस question का answer दे रहे हैं.

किसे है जरूरत?

नए वाहन (Vehicle) मालिकों को FASTag के बारे में tension करने की जरूरत नहीं है. Reason यह है के ये registration के time पहले से ही available कराए जाएंगे. Bus owner को FASTag account को active and recharge करना होगा. हालांकि, आपके पास old feeler है, तो आप उन banks से FASTag buy कर  सकते हैं जो Government के राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह (National Electronic Toll Collection – NETC) कार्यक्रम से authorized हैं.

इन banks में Syndicate Bank, Axis Bank, IDFC Bank, HDFC Bank, State Bank of India, ICICI Bank, and Equitas Bank शामिल हैं. आप Paytm से भी FASTag buy कर सकते हैं.

एंग्जायटी डिसऑर्डर लक्षण प्रकार और बचाव

कहां से लें फास्टैग? | From Where to Buy FASTag

FASTag को किसी भी प्वाइंट ऑफ सेल (Point of Sale – POS) location पर जाकर bank से offline buy किया जा सकता है. हालांकि, FASTag apply करने का process various banks में थोड़ी different होती है. फिर भी application की मुख्य बातें सभी में same रहती हैं.

क्या है प्रक्रिया? | What is the Process for FASTag

  1. FASTag prepaid accoun खोलने के लिए bank की online FASTag application website पर जाएं. FASTag account के online application के लिए bank के साथ account होना required नहीं है.
  2. Personal information जैसे नाम, पता, date of birth, मोबाइल नंबर, email id, आदि भरें.
  3. KYC details विवरण (ड्राइविंग लाइसेंस, pan card, पासपोर्ट, मतदाता पहचान पत्र, या aadhaar card) दर्ज करें.
  4. वाहन (Vehicle) पंजीकरण विवरण दर्ज करें. वाहन (Vehicle) पंजीकरण का मतलब वाहन (Vehicle) के रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (registeration certificate – RC) नंबर से है.
  5. सभी required documents की scanned coy upload करें. इनमें KYC documents, वाहन (Vehicle) मालिक की 1 passport size photo और R.C शामिल हैं.

Appln submit करने के बाद आपका new FASTag account बन जाएगा. आप अपने FASTag account को online या FASTag app के जरिए access कर सकते हैं. आप Credit Card / Debit Card / NEFT / RTGS का उपयोग करके या net banking के द्वारा अपने FASTag खाते को recharge कर सकते हैं. Recharge की जाने वाली maximum amount 1 लाख रुपये है.

आपको मिलते हैं ट्रांजेक्शन एलर्ट | Transaction Alert

आपके सभी FASTag लेनदेन के लिए आपको SMS और Email alert मिलेंगे. अभी Government FASTag का use करके किए गए सभी National toll payments के लिए 2.5 फीसदी का कैशबैक दे रही है.

ज़िन्दगी के मायने समझाते 30 अनमोल विचार | 30 Life Quotes In Hindi

फास्टैग से जुड़े कुछ सवाल और उसके जवाब | FASTag Related Questions and Answers | FAStag FAQs

 (1) सवाल- क्या है फास्टैग और यह कैसे काम करता है? | What is FASTag and how FASTag Works?

जवाब- यह इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन तकनीक (Electronic Toll Collection) है जो National Highways के टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर available है. यह तकनीक रेडियो ​फ्रिक्वेंसी आइडेन्टिफिकेशन (Radio Frequency Identification – RFID) के सिद्धांत पर कार्य करता है.

इस tag को वाहन (Vehicle) के windscreen पर लगाया जाता है ताकि टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर मौजूद censor इसे read कर सके. जब कोई वाहन (Vehicle) टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर फास्टैग (FASTag) lane से गुजरती है तो automatically toll charge कट जाता है. इसके लिए vehicles को रुकना नहीं पड़ता है. एक बार जारी किया गया फास्टैग (FASTag) 5 साल के लिए activate रहता है. इसे बस time to time recharge करना पड़ता है.

(2) सवाल-कहां से खरीद सकते हैं फास्टैग? | From Where I Can Buy FASTag

जवाब- फास्टैग (FASTag) खरीदना बड़ा ही easy है. New vehicle खरीदते समय ही deale से आप फास्टैग (FASTag) प्राप्त कर सकते हैं. वहीं, old vehicles के लिए इसे national Highway के Point of Sale से खरीदा जा सकता है.

इसके अलावा फास्टैग (FASTag) को Private Banks से भी buy कर सकते हैं. इनका टाईअप नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (National Highway Authority of India – NHAI) से होता है. इनमें Syndicate बैंक, Axis बैंक, SBI बैंक, ICICI बैंक, IDFC बैंक, और HDFC बैंक से buy कर सकते है. आप चाहें तो Paytm से भी फास्टैग (FASTag) buy कर सकते हैं.

(3) सवाल-फास्टैग खरीदते समय इन डॉक्यूमेंट्स की होगी जरूरत | which Documents Required for FASTag

जवाब- अगर आप किसी भी प्वाइंट ऑफ सेल (POS) से फास्टैग (FASTag) खरीद रहे हैं तो आप कुछ required documents देने होंगे. आपको इन required document की original copy भी साथ में ले जानी होगी ताकि documents verify किया जा सके.

इनमें वाहन (Vehicle) का registration certificate यानी आरसी, वाहन (Vehicle) मालिक का पासपोर्ट साइज फोटो और KYC document होना चाहिए. इनमें आप driving license, पैन कार्ड, पासपोर्ट, वोटर आईडी कार्ड या Adhaar Card शामिल हो सकता है. Documents की requirement इस बात पर भी depend करती है कि आपका वाहन (Vehicle) private है या commercial है.

Rajnikanth Biography and Quotes in Hindi

 (4) सवाल- पैसे खत्म होने के बाद इसे कैसे रिचार्ज कराते है? | How to Recharge FASTag

जवाब- सबसे पहले तो फास्टैग (FASTag) के लिए आपको plastic covering उतारकर इसे वाहन (Vehicle) के wind screen पर लगाना होगा. पहली बार use कर रहे users को इसे अपने online wallet से link करना होगा. इसके लिए उन्हें उस bank के website पर visit करना होगा जिनसे फास्टैग (FASTag) buy किया गया है.

उसके बाद दिए गए steps follow करने के बाद use किया जा सकता है. इस wallet को online recharge किया जा सकता है. फास्टैग (FASTag) अकाउंट से हर बार पैसे deduct के बाद इसका एक SMS alert भी आएगा.

(5) सवाल- फास्टैग से मुझे क्या फायदा होगा? | Benefit of FASTag

फास्टैग (FASTag) use करने का सबसे major benefit यह है टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर long lines नहीं लगानी पड़ती है. साथ ही payment की facility की वजह से किसी को cash साथ में रखने की requirement नहीं होती.

टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर paper use भी less होता है. लेन में vehicles की big lines कम होने की वजह से pollution भी reduce होता है. फास्टैग (FASTag) के इस्तेमाल पर कई तरह का cashback and other  offers भी मिलता है.

(6) सवाल- फास्टैग कैसे काम करता है? | How FASTag Works

जवाब- फास्टैग (FASTag) एक वाहन (Vehicle) की windscreen से जुड़ा हुआ एक sticker जैसा instrument है. यह रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (Radio frequency identification – RFID) तकनीक पर based है. इससे चल रही vehicle के toll booth से गुजरते ही अपने आप ही record submit हो जाएगा.

टोल टैक्स bank accounrt से काट लिया जाता है जो कि FASTag से connected है. इस वजह से driver को टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर रुकना नहीं पड़ता. NHAI digital toll payment के लिए user’s को discount देता रहा है.

(7) सवाल- अगर फास्टैग नहीं लगवाया तो क्या होगा? | What if No FASTag on Vehicle

जवाब- देश के  cities में टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर लगने वाली भीड़ पर control करने के लिए government ने new policy बनाई है. Indian Government चाहती है कि toll पर से गुजरने वाले cash payment में कमी कर फास्टैग (FASTag) के जरिए electronic tolling का इस्तेमाल करें.

Cash toll collection के चलन से टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर crowd बढ़ती है और उसके लिए वहां रुकने वाली vehicles से pollution बढ़ता है. साथ ही कई बार इस reason से traffic jam भी लगता है. Minister of Road Transport नितिन गडकरी ने बताया है कि जो भी कोई फास्टैग (FASTag) नहीं लगवाएं उसे double toll pay करना होगा.

(8) सवाल- क्या भारत ही पहला देश है जहां पर फास्टैग का इस्तेमाल हो रहा है? | Which other Countries Using FASTag

जवाब- European country and America समेत कई देशों में ऐसी technique का use होता आया है. Driver’s फर्राटे के साथ टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर बिना किसी रुकावट के cross हो जाते हैं.

40 Motivational Quotes For Students in Hindi | स्टूडेंट्स के लिए 40 शक्तिशाली कोट्स

(9) फास्टैग से जुड़ी दिक्कतें कैसे दूर होंगी? | Solution for FASTag Problems

जवाब-फास्टैग (FASTag) से जुड़ी कई problems जैसे फास्टैग (FASTag) का ठीक से scan ना होना, फास्ट टैग का damage या break होने पर या फिर account में पैसा होने पर toll नहीं दे पाने जैसी problems को आप एक phone call के जरिये सुलझा सकते हैं. नेशनल हाईवे ऑथोरिटी (NHAI) के नेशनल हेल्पलाइन नंबर 1033 पर call करके, या फिर Highway Authority की website www.ihmcl.com या MyFastTag Mobile App के जरिये फास्टैग (FASTag) से जुड़ी problems को दूर कर सकते हैं.

16 Fastag Facts in Hindi | फास्टैग से जुड़े रोचक तथ्य

  1. फास्टैग (FASTag), रेडियो फ्रिक्वेंसी आईडिफिकेशन टेक्नोलॉजी (Radio frequency identification technology) पर आधारित एक टैग है.
  2. यह four wheeler की windscreen पर लगाया जाता है.
  3. टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर लगी device, tag को read कर लेती है और toll gate खुद-ब-खुद खुल जाता है.
  4. Toll booth से होकर गुजरते समय रुककर toll tax देने की requirement नहीं होती है.
  5. User के tag account से होने वाले सभी transaction की जानकारी उनके registered mobile number पर SMS से मिलती है.
  6. नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) के 520 टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर पहली December से फास्टैग (FASTag) शुरू हो जाएंगे. बताया जा रहा है इन toll barriers से गुजरने वाले करीब 70 लाख vehicles के रोजाना 50 लाख hours बचेंगे.
  7. पूर देश में NHAI के 537 toll barrier हैं. जिनमें से 520 चालू हैं. टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर फास्टैग (FASTag) शुरू होने से every year करीब 75,000 करोड़ रुपये का petrol and diesel बचेगा और बड़ी मात्रा में pollution में reduction आएगी.
  8. 1 December से National Highway पर लगे टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर फास्टैग (FASTag) की लाइन में बिना tag वाले वाहनों double charge वसूला जाएगा. हालांकि टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर ऐसी lines भी होगी जहां बिना फास्टैग (FASTag) वाले वाहन (Vehicle) निकल सकते हैं और उन्हें general toll tax देना होगा.
  9. फास्टैग (FASTag) लेने के लिए वाहन (Vehicle) चालक को अपने वाहन (Vehicle) की आरसी, आधार कार्ड, pan card आदि की photost copy की आवश्यकता होती है.
  10. वाहन (Vehicle) चालक वहां से बिना शुल्क दिए अपनी गाड़ी में फास्टैग (FASTag) लगवा सकते हैं. इसके अलावा banks की ओर से भी कई selling points बनाए गए हैं, जहां से आप फास्टैग (FASTag) लगवा सकते हैं.
  11. NHAI और banks, दोनों ने मिलकर whole country में लगभग 27 हजार center बनाए हैं, जहां से आप अपनी vehicles पर फास्टैग (FASTag) लगवा सकते हैं. अगर आप NHAI के अलावा कहीं और से भी FASTag इसे लगवाते हैं तो आपको शुल्क का payment करना होगा.
  12. देश के लगभग सभी बड़े government और private banks जैसे SBI, ICICI, HDFC, AXIS BANK से FASTag ले सकते हैं. Amazon से भी आप ऑनलाइन फास्टैग (FASTag) buy कर सकते हैं. PAYTM के जरिये भी फ़ास्ट टैग buy किया जा सकता है.बड़े पेट्रोल पंप पर भी फास्टैग (FASTag) खरीदने की सुविधा है. NHAI की ओर से फास्टैग (FASTag) की फ्री सुविधा के लिए सभी टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर बिक्री केंद्र लगाए गए हैं.
  13. आपको अपने मोबाइल पर My FASTag app use करना होगा. इस app पर आपको अपने toll amount और उसके बारे में complete information मिल जाएगी. इस ऐप में आपको prepaid wallet की facility भी मिलेगी. इससे आप pepaid payment भी कर पाएंगे.
  14. फास्टैग (FASTag) को recharge कराने के लिए अपने mobile पर MY FASTTAG app download कर फ़ास्ट टैग को link करना होगा. फिर UPI या bank account के द्वारा आप mobile app की help से फास्टैग (FASTag) को recharge कर सकते हैं.
  15. आरएफआईडी (RFID) या रेडियो फ्रीक्वेंसी इन्फ्रारेड (radio frequency identification) डिवाइस, एक small chip or sticker होता है जिसे आप अपनी vehicle के आगे वाले शीशे पर चिपका सकते हैं. इसी sticker या chip को फास्टैग (FASTag) (FASTag) कहते हैं.
  16. फास्टैग (FASTag) लगी गाड़ी जब National Highway या किसी टोल प्लाजा (Toll Plaza) (Toll Plaza) से गुजरेगी तो वहां toll barrier पर लगे high definition camera गाड़ी के RFID या फास्टैग (FASTag) को scan कर लेंगे और toll payment अपने आप ही electronic way से हो जाएगा.

तो दोस्तों, यह थी सम्पूर्ण जानकारी FASTag के बारे में, उम्मीद है आपको यह पोस्ट अच्छी लगी होगी, तो कृपया इस पोस्ट को शेयर करना मत भूले, धन्यवाद.

दोस्तों, आप यह Article Prernadayak पर पढ़ रहे है. कृपया पसंद आने पर Share, Like and Comment अवश्य करे, धन्यवाद!!

Google में नौकरी कैसे पाए

विदेश में नौकरी कैसे पाए

तलाक़ – एक दर्द भरी कहानी | Divorce – A Painful Story

Jio Rockers 2020 – HD Telugu, Tamil, Malayalam, Kannada, Hollywood, Bollywood Movies Download

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *