राम नाम की महिमा और शक्ति | Ram Naam ki Mahina aur Shakti
Dharmik HindiMe India News Internet Ramayan World

राम नाम की महिमा और शक्ति | Ram Naam ki Mahina aur Shakti

राम नाम की महिमा और शक्ति | Ram Naam ki Mahina aur Shakti

राम नाम की महिमा (mahima) का कोई पार नहीं है | यह अति सुखदाई है जो आत्मिक और मानसिक (atmik aur mansik) सुख प्रदान करता है | हजारो बार वैज्ञानिक यह सिद्ध कर चुके है की श्री राम (shri ram) का नाम जपने वाला व्यक्ति नकारात्मक उर्जा से दूर सकारात्मक उर्जा (positive energy) से भर जाता है |

राम सर्वशक्ति शाली है पर उनके तीन परम भक्तो (bhagto) ने अपनी भक्ति से उनके नाम को उनसे भी ज्यादा शक्तिशाली (powerful) बना दिया है | ये तीन महान भक्त है हनुमान जी (hanuman ji), भरत और विभीषण |

कोई तन दुखी, कोई मन दुखी, कोई धन बिन रहत उदास

इस जगत में बस एक सुखी जो जय राम का दास | 

राम नाम मंत्र | Ram Naam Mantra

राम का नाम लिखने पर पत्थर भी पानी में तैर जाते है | Ram Naam Likhne Par Patthar Mein Tairte Hai

यह तो सर्वविदित है की जब लंका (lanka) जाने के लिए समुन्द्र पर रामेतु पुल बनाना था तब नल और नीर (nal and neer) ने पत्थरो पर प्रभु श्री राम का नाम लिखकर उन्हें पानी (water) पर तीरा दिया था |

यह राम नाम (ram naam) की शक्ति थी की पत्थर भी पानी में डूब (drown) नही सके | आज भी वो पत्थर पानी में डूबते (drowning) नही है | यह राम नाम का चमत्कार ही था | (राम नाम की महिमा)

श्री राम 108 नामावली | 108 Names Of Lord Rama In Hindi

Microsoft में नौकरी कैसे पाए – How to Get Job in Microsoft

राम नाम में है कितनी शक्ति | Ram Naam Mein Hai Kitni Shakti

र’, ‘अ’ और ‘म’, इन तीनों अक्षरों (words) के योग से ‘राम’ मंत्र बनता है। यही राम रसायन है। ‘र’ अग्निवाचक है। ‘अ’ बीज मंत्र है। ‘म’ का अर्थ है ज्ञान। यह मंत्र (mantra) पापों का नाश करके ज्ञान (knowledge) की ज्योत जलाने वाला है |

मुक्ति का आधार , नारायण (narayan) के चरणों में पहली कदम यही है | राम (ram) शब्द का अर्थ ही पापो का नाश (killer) करने वाला , मनोहर | यही व्यक्ति के एक सहारा है | विष्णु (vishnu) के सहस्त्र नामो एक यही निचोड़ है | (राम नाम की महिमा)

राम में छिपा है ॐ और ॐ में छिपा है राम | Ram Mein Chhipa Hai OM Aur OM Mein Chhipa Hai Ram

राम (ram) शब्द का विग्रह करने पर बनता है र + अ + म = इसके दुसरे (second) क्रम में अ र म फिर अ : म और उससे बना है ॐ |

इसी तरह ॐ (om) से बनेगा राम : अ : म उससे अ + र + म और क्रम (row) बदलने से र + अ + म = राम

अत: राम (ram) शब्द में महा अक्षर ॐ की शक्ति विधमान है और इसकी कारण राम (ram) शब्द को वेदप्राण भो बोला जाता है |

रामायण से सीखे सफलता में दिए वचन और बाद में पछताने के बारे में

सबसे सरल मंत्र है राम | Sabse Saral Mantra Hai Ram

यदि आप मंत्रो (mantra) का उच्चारण या जाप करना चाहे और विधि नही पता हो , या मंत्र (mantra) नहीं जानते हो तब यह राम (ram) शब्द का जाप सर्वसिद्धि देने वाला है |

आप अच्छी तरह जानते है की सिर्फ राम राम (ram ram) का जाप करने से हनुमानजी और विभीषन (vibhishan) तक अजर अमर हो गये और उनकी कीर्ति हर जगह सूर्य के प्रकाश (sun shine) की तरह फ़ैल गयी |  (राम नाम की महिमा)

राम (ram) नाम लेखन आज हिन्दुओ की आधारशिला (base) बन चूका है | बस राम का नाम लिखते रहे और मन में राम राम (ram ram) करते रहे |

दोस्तों, आप यह Article Prernadayak पर पढ़ रहे है. कृपया पसंद आने पर Share, Like and Comment अवश्य करे, धन्यवाद!!

Sarkari Naukri in Hindi | सरकारी नौकरी | Sarkari Job Vacancies

MovieRulz 2020

Diwali Festival Stories in Hindi

Diwali Facts in Hindi

Diwali Stories in Hindi

Happy Diwali Facts in Hindi

विक्रम बेताल की कहानियाँ – सर्वश्रेष्ठ वर कौन?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *