साईं बाबा के 29 अनमोल वचन | 29 Sai Baba Quotes In Hindi

साईं बाबा के 29 अनमोल वचन | 29 Sai Baba Quotes In Hindi

  1. अगर कोई मुझे देखते है और सिर्फ अकेला (only) मुझे ही देखता है और मेरी लीला को सुनता है और केवल मुझमे ही समर्पित हैं तो वह अवश्य ईश्वर (bhagwan) तक पहुंचेगा।

  1. मेरा कर्म (work) आशीष देना है।

  1. मैं तुम्हें अंत (end) तक ले जाऊंगा।

  1. पूरी तरह से भगवान (bhagwan) में समर्पित हो जाएँ।

  1. अगर अपने विचारों और लक्ष्य (target) में तुम मुझे धारण करते हो तब तुम्हें सर्वोच्च की प्राप्ति होगी।

  1. अपने गुरु पर पूर्णतः भरोसा (believe) करना ही साधना है।

  1. मेरे पास रहो शांत (calm) रहो अन्य मैं संभाल लूँगा।

  1. हमारा कर्तव्य क्या है अच्छा बर्ताव (good behavior) करना यह पर्याप्त है।

  1. जो मुझसे प्यार (love) करते हैं मेरी कृपा उन पर बनी रहती हैं।

  1. तुम जो भी कर रहे हो जहाँ भी हो हमेशा (always remember) ध्यान रखना कि तुम क्या कर रहे हो यह मुझे सदैव ज्ञात रहा है।

  1. मैं दिन और रात अपने लोगों के बारे में विचार (thought) करता हूँ और बारंबार उन्हीं का नाम पुकारता हूँ।

  1. मैं हर एक वस्तु (thing) में हूँ और उस वस्तु से परे भी। मैं सभी रिक्त स्थान (place) को भरता हूँ।

  1. सबका मालिक एक (one) है।

  1. मेरे रहते डर (fear) कैसा?

  1. मेरा काम तो आशीर्वाद (blessings) देना है।

  1. हमारा कर्तव्य क्या है? ठीक से व्यवहार करना। ये काफी है।

  1. जो मुझे प्रेम (love) करते हैं मेरी दृष्टि हमेशा उनपर बनी रहती है।

  1. जीवन एक गीत (song) है इसे गाएं। जीवन एक खेल है इसे खेलें। जीवन एक चुनौती है, इसे पूरा करें। जीवन (life) एक सपना है इसे साकार करें। जीवन एक बलिदान है-चेष्टा करें। जीवन प्रेम (love) है आनंद लें।

  1. मैं निर्गुण और निरपेक्ष हूँ, मेरा कोई नाम (no name) नहीं और कोई आवास नहीं है।

  1. सभी परिणाम इंसान (insan) की सोच का नतीजा है इसलिए हमारी सोच (thinking) मायने रखती है।

  1. जो आप अपने चारों तरफ देखते हैं, या आप जो देख रहे हैं उससे भ्रमित न हो। आप एक ऐसी दुनिया (world) में रहते हैं जो भ्रम के खेल का मैदान है, झूठे मार्गों, झूठे मूल्यों और झूठे आदमियों से भरा हुआ है। लेकिन आप उस दुनिया (world) का हिस्सा नहीं हैं।

  1. एक-दूसरे से प्यार (love) करें और दूसरों को ऊँचे स्तर तक पहुँचाने में मदद करें। प्यार (love) संक्रामक और सबसे बड़ी चिकित्सा उर्जा है।

  1. मनुष्य खो गया है और जंगल में भटक रहा है जहाँ वास्तविक मूल्यों (real value) का कोई अर्थ नहीं है। वास्तविक मूल्यों का अर्थ मनुष्य (human) को सिर्फ तब ही हो सकता है जब वह आध्यात्मिक पथ पर कदम रखता है, एक ऐसा पथ जहाँ नकारात्मक भावनाओं (negative vibes) का कोई उपयोग नहीं होता है।

  1. दुनिया (world) में नया क्या है? कुछ भी तो नहीं। दुनिया (world) में क्या पुराना है? कुछ भी तो नहीं। सब कुछ हमेशा से रहा है और हमेशा रहेगा।

  1. अगर आप मेरी सहायता (help) और मार्गदर्शन चाहते हैं, तो मैं तुरंत आपको यह दूंगा।

  1. एक घर को ठोस नींव (base) पर बनाया जाना चाहिए अगर इसे लंबे समय तक टिका रहना है। वही सिद्धांत मनुष्य पर लागू होता है, अन्यथा वह भी नरम जमीन (land) में डूब जाएगा और भ्रम की दुनिया (world) द्वारा निगला जाएगा।

  1. मनुष्य अनुभव के माध्यम से सीखता है और आध्यात्मिक (spiritual) पथ विभिन्न प्रकार के अनुभवों से भरा है। वह कई कठिनाईयों (problems) और बाधाओं का सामना करता है और अंत में सच्चा ज्ञान (knowledge) प्राप्त करता है।

  1. प्रेम (love) का प्रवाह होने दें ताकि वह दुनिया (world) को शुद्ध करे। तभी मनुष्य शांति के साथ रह सकता है, न कि अतीत के जीवन के माध्यम से पैदा हुई अशांति के साथ जो सभी भौतिक हितों और सांसारिक महत्वकांक्षाओं के कारण पैदा हुई थी।

  1. वासना (lust) के आदी रहने वालों के लिए मुक्ति असंभव है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *