अमिताभ बच्चन के 20 प्रेरक सुविचार | 20 Amitabh Bachchan Quotes In Hindi
India News Inspirational Quotes in Hindi Inspirational Thoughts in Hindi Internet Motivational Quotes in Hindi World

20 Amitabh Bachchan Quotes In Hindi

अमिताभ बच्चन के 20  प्रेरक सुविचार | 20 Amitabh Bachchan Quotes In Hindi

नाम : अमिताभ हरिवंश राय बच्चन – Amitabh Harivansh Rai Bachchan (Amitabh Bachchan)

जन्म : 11 अक्टूबर, 1942 इलाहाबाद

पिता : हरिवंशराय बच्चन – Harivansh Rai Bachchan

माता : तेजी बच्चन – Teji Bachchan

पत्नी : अभिनेत्री जया भादुड़ी – Jaya Bhaduri

अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) Bollywood के most famous Actor हैं। 1980 के दशक के दौरान उन्होंने बड़ी popularity प्राप्त की और तब से History of Indian Cinema में सबसे major personality बन गए हैं।

बच्चन ने अपने career में कई prize जीते हैं, जिनमें तीन राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार और बारह फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार शामिल हैं। उनके नाम सर्वाधिक सर्वश्रेष्ठ Actor फिल्मफेयर अवार्ड का रिकार्ड है।

Acting के अलावा बच्चन ने पार्श्वगायक, फिल्म निर्माता (film production) और टीवी प्रस्तोता और भारतीय संसद के एक निर्वाचित सदस्य (elected member) के रूप में 1984 से 1987 तक भूमिका की हैं। इन्होंने प्रसिद्द टी.वी. शो “कौन बनेगा करोड़पति” (Who Wants to be a Millionaire) में होस्ट की भूमिका निभाई थी |जो की बहुत चरचित अवम सफल रहा। बच्चन का विवाह अभिनेत्री जया भादुड़ी से हुआ है।

Diwali Festival Stories in Hindi

Diwali Facts in Hindi

अमिताभ बच्चन से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियाँ | Facts related to Amitabh Bachchan

क्या अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) धूम्रपान करते हैं ? नहीं (1980 के दशक के बाद धूम्रपान (smoking) छोड़ दिया)

क्या अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) शराब पीते हैं ? नहीं (1980 के दशक के बाद शराब (alcohol) छोड़ दी)

उनका जन्म अभिनय के इलाहाबाद (Allahabad) जिले में हरिवंश राय बच्चन और तेजी बच्चन के घर हुआ।

उनके पूर्वज उत्तर प्रदेश (UP) के प्रतापगढ़ जिले के गांव (village) बाबूपट्टी से थे।

उनकी माँ तेजी बच्चन पाकिस्तान (Pakistan) के ल्यालपुर (फैसलाबाद) के एक सिख समुदाय से थीं।

उनके पिता हरिवंश राय बच्चन (Harivansh Rai Bachchan) एक प्रसिद्ध हिंदी कवि थे।

प्रारंभ में उनका नाम इंक़लाब (Inklaab) रखा गया था लेकिन राष्ट्रीय कवि (National Poet) सुमित्रानंदन पंत (हरिवंश राय बच्चन के साथी कवि) के सुझाव के बाद उनका नाम अमिताभ (Amitabh) रखा गया। उनके नाम का अर्थ ” वह प्रकाश जो कभी ना ढले।”

उनका असली उपनाम (nick name) श्रीवास्तव था, उनके पिता ने श्रीवास्तव से बच्चन रखा।

उनकी माँ थिएटर (theater) में बहुत दिलचस्पी रखती थीं और उन्होंने एक फीचर फिल्म (feature film) में भी भूमिका अदा की थी, जिसके बाद उन्हें फिल्मों (movies) में कार्य करने के प्रस्ताव आने लगे परंतु उन्होंने घरेलू कर्तव्यों (home duties) को प्राथमिकता दी।

वह एक इंजीनियर बनना चाहते थे और भारतीय वायु सेना में शामिल होने के लिए काफी उत्सुक थे।

अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) को उनकी भारी आवाज़ के लिए जाना जाता है परंतु ऑल इंडिया रेडियो (All India Radio) ने उनकी इस आवाज को खारिज कर दिया था।

अमिताभ बच्चन की फिल्मे | Movies of Amitabh Bachchan

अपनी डेब्यू फिल्म “सात हिंदुस्तानी” (7 Hindustani) में काम करने से पहले, उन्होंने मृणाल सेन की राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता फिल्म (National Award winning film) – भुवन शोम (1969) में अपनी आवाज दी थी।

1971 की फिल्म “आनंद” में डॉक्टर (doctor) की भूमिका के लिए उन्हें Best Supporting Actor के पहले फिल्मफेयर पुरस्कार (Filmfare Prize) से सम्मानित किया गया।

उन्होंने पहली बार अपनी वर्तमान पत्नी जया भादुरी (Jaya Bhaduri) के साथ फिल्म – गुड्डी (1971) में कार्य किया। जिसमें उन्होंने एक अतिथि की भूमिका (guest role) अदा की थी।

Prakash Mehra की फिल्म – जंजीर (1973) के बाद वह बहुत लोकप्रिय Actor बने, जिसमें उन्होंने इंस्पेक्टर Vijay Khanna की भूमिका निभाई थी। इस फिल्म ने उन्हें एक उपनाम दिया – “एंग्री यंग मैन” (Angry Young Man), जो बॉलीवुड फिल्मजगत में सबसे प्रतिष्ठित किरदारों (best characters) में से एक माना जाता है।

भारतीय फिल्म – शोले (Sholay) में उन्होंने जय की भूमिका (character) अदा की जिसके लिए उन्हें एक लाख का पारितोषिक (contract) मिला। अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) फिल्म शोले में

26 जुलाई 1982 को, बेंगलुरु विश्वविद्यालय (Bengaluru University) के कैंपस में, फिल्म Coolie Fight Scene के दौरान, उन्हें गंभीर चोट लगी।

फिल्म Coolie की घटना के बाद उन्हें Mysthenia gravis (एक दीर्घकालिक स्नायुस्कुलर रोग जो Muscle Weakness से होता है) नामक बीमारी से जुझना पड़ा।

1984 में, उन्होंने अपने दोस्त Sh. Rajiv Gandhi को समर्थन देने के लिए कुछ समय के लिए acting से politics में जाने का मन बनाया। उन्होंने H.N. Bahuguna के खिलाफ आठवीं लोकसभा चुनाव में Allahabad seat से चुनाव लड़ा था। उन्होंने general election के इतिहास में (68.2% वोटों) के अंतर से win दर्ज की थी।

Politics में तीन साल तक active रहने के बाद, उन्होंने politics से retirement ले लिया।

जब उनकी कंपनी- ABCl (Amitabh Bachchan Corporation Ltd.) घाटे में चल रही थी, तब उनके दोस्त Amar Singh ने उनकी financial help की। उसके बाद अमिताभ ने Amar Singh की पार्टी- Samajvadi Party (S.P) का समर्थन करना शुरू कर दिया।

वर्ष 1990 की फिल्म “अग्निपथ” (Agneepath) में माफिया डॉन की भूमिका के लिए उन्हें best Actor के राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार (National Film Awards) से नवाजा गया।

Free Robux Generator

Free Robux

बॉक्स ऑफिस (box office – टिकट घर) पर फिल्म- इन्सानियत (1994) की failure के कारण वह पांच साल तक film industry में दिखाई नहीं दिए।

वर्ष 1996 में, उन्होंने अपनी Film Production Company- अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) कॉरपोरेशन लिमिटेड (एबीसीएल) की स्थापना की। अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) कॉरपोरेशन लिमिटेड (एबीसीएल) Bangalore में आयोजित 1996 Miss World Beauty Contest का मुख्य प्रायोजक (main sponsor) था। परंतु 1996 मिस वर्ल्ड ब्यूटी प्रतियोगिता के fail होने से उन्हें लाखों Rs. का loss हुआ।

अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) ने Acting कला में पुनः लौटने के लिए year 2000 में famous TV show “कौन बनेगा करोड़पति (केबीसी)” से starting की।

June 2000 में, वह Asia के पहले व्यक्ति बने, जिनकी London स्थित मैडम तुसाद वैक्स संग्रहालय (Madam tusad Wax Museum) में मोम से निर्मित मूर्ति स्थापित की गयी।

वह अपने दोनों हाथों (both hands) से समान रूप से अच्छी तरह लिख (writing) सकते हैं।

अमिताभ बच्चन सामाजिक कार्यों में आगे|  Amitabch Bachchan in Social Activities

– इन सबके इतर अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) लोगों की help के लिए भी हमेशा आगे खड़े रहते हैं। वे सामाजिक कार्यों (social activities) में काफी आगे रहते हैं।

कर्ज में डूबे आंध्रप्रदेश (Andhra Pradesh) के 40 किसानों (farmers) को अमिताभ ने 11 लाख रूपए की मदद की। ऐसे ही विदर्भ के किसानों (farmers) की भी उन्‍होंने 30 लाख रूपए की help की। इसके अलावा और भी कई ऐसे मौके रहे हैं जिसमें Amitabh Bachchan ने दरियादिली दिखाई है और poor peoples की help की है। 

अमिताभ बच्चन की पढ़ाई | Study of Amitabh Bachchan

Amitabh Bachchan (अमिताभ बच्चन) शेरवुड कॉलेज, नैनीताल के student रहे हैं। इसके बाद की पढ़ाई उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय (Delhi University) के किरोरीमल कॉलेज से की थी। पढ़ाई में भी वे काफी अव्‍वल (topper) थे और कक्षा के अच्‍छे छात्रों (good students) में उनकी गिनती होती थी। कहीं ना कहीं ये गुण (qualities) उनके पिताजी से ही आए थे क्‍योंकि वे भी जानेमाने कवि (famous poet) रहे थे।

अमिताभ बच्चन की शादी | Marriage of Amitabh Bachchan

Amitabh Bachchan (अमिताभ बच्चन) की शादी जया बच्चन से हुई जिनसे उन्हें दो बच्चे (children’s) हैं। अभिषेक बच्चन उनके सुपुत्र(son)  हैं और श्वेता नंदा उनकी सुपुत्री (daughter) हैं। रेखा से उनके अफेयर (affair) की चर्चा भी खूब हुई और लोगों के गॉसिप (topic of gossip) का विषय बनी।

अमिताभ बच्चन का करियर | Carrier of Amitabh Bachchan

अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) की शुरूआत फिल्मों में वॉयस नैरेटर (voice narrator) के तौर पर फिल्म ‘भुवन शोम’ (Bhuvan Shom) से हुई थी लेकिन Actor के तौर पर उनके करियर की शुरूआत फिल्म ‘सात हिंदुस्तानी’ (7 hindustani) से हुई।

इसके बाद उन्होंने कई फिल्में (movies) कीं लेकिन वे ज्यादा सफल (successful) नहीं हो पाईं। फिल्म ‘जंजीर’ (janjir) उनके करियर का टर्निंग प्वाइंट (turning point) साबित हुई। इसके बाद उन्होंने लगातार हिट फिल्मों (continue hit movies) की झड़ी तो लगाई ही, इसके साथ ही साथ वे हर दर्शक वर्ग में लोकप्रिय (famous actor) हो गए और film industry में अपने Acting का लोहा भी मनवाया।

Sundar Kand in Hindi Lyrics

Maruti Stotra English Lyrics

अमिताभ बच्चन की प्रसिद्ध फिल्में | Famous Movies of Amitabh Bachchan

सात हिंदुस्तानी, अभिमान, सौदागर, Anand, जंजीर, चुपके चुपके, दीवार, शोले, kabhi-kabhi, अमर अकबर एंथनी, मि. नटवरलाल, लावारिस, सिलसिला, त्रिशूल, डॉन, मुकद्दर का सिकंदर, Kaliya, सत्ते पे सत्ता, नमक हलाल, शक्ति, coolie, शराबी, मर्द, शहंशाह, अग्निपथ, खुदा गवाह, मोहब्बतें, Baagban, ब्लैक, वक्त, Sarkar, चीनी कम, भूतनाथ, Pa, सत्याग्रह, शमिताभ जैसी शानदार फिल्मों (movies) ने ही उन्हें सदी का महानायक बना दिया।

अमिताभ बच्चन के पुरस्‍कार | Amitabh Bachchan Awards and Achievements

सर्वश्रेष्ठ Actor के तौर पर उन्हें 3 बार राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार (national film award) मिल चुका है। इसके अलावा 14 बार उन्हें फिल्मफेयर अवार्ड (filmfare award) भी मिल चुका है। फिल्मों के साथ साथ वे गायक, निर्माता और टीवी प्रजेंटर भी रहे हैं। भारत सरकार (Indian Government) ने उन्हें पद्मश्री और पद्मभूषण सम्मान से भी नवाजा है

उनके ऊपर कई किताबें भी लिखी जा चुकी हैं-

Amitabh Bachchan: द लिजेंड year 1999 में,

टू बी ऑर नॉट टू बी, अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) year 2004 में,

एबी: द लिजेंड (ए फोटोग्राफर्स ट्रिब्‍यूट) year 2006 में,

अमिताभ बच्‍चन: एक जीवित किंवदंती year 2006 में,

Amitabh Bachchan: द मेकिंग ऑफ ए सुपरस्‍टार year 2006 में,

लुकिंग फॉर द बिग बी: बॉलीवुड, बच्‍चन एंड मी year 2007 में,

बच्‍चनालिया year 2009 में प्रकाशित हुई हैं।

– वे शुद्ध शाकाहारी हैं और year 2012 में ‘पेटा’ इंडिया द्वारा उन्‍हें ‘हॉटेस्‍ट वेजिटेरियन’ (hottest vegetarian) करार दिया गया। पेटा एशिया (Asia) द्वारा कराए गए एक कांटेस्‍ट पोल (Contest Pole) में एशिया के सेक्सियस्‍ट वेजिटेरियन (sexiest vegetarian) का टाईटल भी उन्‍होंने जीता।

टेक्‍नोलॉजी के दौर में भी सबसे एक्टिव बच्‍चन | Amitabh Bachchan Active in tech Gadgets too

आज का दौर सोशल मीडिया (social media) का है। खबरें पल पल में इंटरनेट (internet) पर अपलोड होती रहती हैं। ऐसे में हमारे बिग बी (big b) कहां पीछे रहने वाले हैं। वे भी फेसबुक, ट्विटर (facebook and twitter) का जमकर इस्‍तेमाल करते हैं और यही reason है कि दोनों सोशल नेटवर्किंग साइट्स (social networking sites) पर उनके फैंस की संख्‍या लाखों-करोड़ों (millions of fan) में है। वे अपने प्रंशसको (fans) को कभी नहीं निराश करते हैं और पल पल की घटनाओं (activities) को वे इन माध्‍यमों के जरिए share करते हैं।

Salasar Hanumanji Aarti

Hanuman Ji Ki Aarti Hindi Lyrics

अमिताभ बच्चन के प्रेरक सुविचार | Amitabh Bachchan Quotes In Hindi

  1. मैं कभी भी एक सुपर स्टार (super star) नहीं रहा और न ही इसमें कभी भी विश्वास (believe) किया।
  1. मैं कभी-कभी इस बात से दुखी (sad) हो जाता हूँ, कि मेरे पास रोग मुक्त शरीर (body) नहीं है।
  1. यह एक रणभूमि है, और मेरा शरीर (body) इन में से एक है जिसने बहुत कुछ सहन (patience) किया है।
  1. यह सभी को स्वीकार (Accept) करना चाहिए, कि हमारी उम्र बढ़ेगी और उम्र हमेशा उड़ान (fly) नहीं भरती मतलब सुखद नहीं होती।
  1. टीवी मीडिया (TV media) से मैं इतना ही कहूँगा कि इतने तनाव (stress) में आकर मेहनत न करे।
  1. ऐसी बहुत (so many) सी चीजे हैं, जो मुझे लगता है उन्हें करना बाकी है।
  1. मुझे ऐश्वर्या (aishwarya) के साथ रोमांस करने में खुशी होगी लेकिन मेरी उम्र (age) के हिसाब से मैं उनका पिता (father) ही बन सकता हूँ।

Microsoft में नौकरी कैसे पाए

Facebook में नौकरी कैसे पाए

  1. डायलोग- रिश्ते में तो हम तुम्हारे बाप (father) लगते हैं नाम है शहनशाह।
  1. डायलोग-हम जहाँ खड़े होते हैं लाइन (line) वही से शुरू होती है।
  1. प्रत्येक (every) युग में आप देखेंगे या प्रत्येक दशक में नए कलाकार (actor) आए… और नई पीढ़ी है। आपके हर व्यवसाय (business) में ऐसा ही होगा। पिता जो है अपनी जिम्मेदारी पुत्र (father) पर छोड़ देता हैं, चाहे वो बड़ा बिजनेस हो या मिडिया (media) हो, चाहे वो फिल्म कलाकार हो, राजनीती (politics) हो। सब जगह ऐसा होता है।
  1. मुझे कभी-कभी (sometimes) ऐसा लगता है कि मैं हमेशा चर्चा का विषय (topic) ही रहने के लिए पैदा हुआ हूँ।
  1. पैसा (money) तो आप सभी कमाते रहे हैं। आप भी कमा (earning) रहे हैं… हम भी कमा रहे हैं।
  1. ढेर सारी ऐसी चीजें (things) थीं। जिसे मुझे लगता है कि मैंने खो (lost) दिया है।
  1. एक बार शुरुआत (starting) में अगर आप चरम सीमा छू लेंगे, तो वहां से फिर आपको नीचे (down) ही उतरना है। यही जीवन है।
  1. हर क्रिएटिव इंसान (creative people) को ये छुट मिलनी चाहिए कि वह अपनी क्रिएटिविटी (creativity) को व्यक्त करें।
  1. कोई भी इंसान (human) भरपूर नहीं है। और हमेशा से ही आलोचनाओं का मैं सम्मान (respect) और उम्मीद करता हूँ।
  1. अगर हमारे मन (as per your thinking) का नहीं हो रहा है, तो फिर ईश्वर के मन का हो रहा है। वो तो हमारे लिए अच्छा (good) ही चाहेगा।
  1. मैं न्यू ईयर रेसुलेषण (new year resolution) में यकीन नहीं रखता। अगर मुझे कुछ करना ही है, तो उसे अभी (do right now) कर डालूँगा 1 जनवरी आने का इंतजार (Wait) क्यों करूँगा?
  1. मेरी दिली इच्छ (heartiest wish) तो बस यही है कि कोई ऐसा काम मिले, जिसके साथ हमें जूझना पड़े, संघर्ष (struggle) करना पड़े।
  1. हम सभी प्रोफेशनल (professional) हैं और प्रोफेशनल तरीके से ही काम करते हैं और प्रोफेशनल (professional) रिश्ते कभी इसके अंदर नहीं आते।

दोस्तों, आप यह Article Prernadayak पर पढ़ रहे है. कृपया पसंद आने पर Share, Like and Comment अवश्य करे, धन्यवाद!!

SarkariResult.com क्या है?

ब्लैक फ्राइडे इतिहास और रोमांचक बातें | Black Friday History and Facts

American President Donald Trump Biography and Quotes in Hindi

साईं बाबा के 29 अनमोल वचन | 29 Sai Baba Quotes In Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *