Charlie Chaplin Biography and Quotes in Hindi - चार्ली चैप्लिन की जीवनी और प्रेरणादायक अनमोल विचार
Biography in Hindi Motivational Quotes in Hindi Quotes in Hindi

Charlie Chaplin Biography and Quotes in Hindi – चार्ली चैप्लिन की जीवनी और प्रेरणादायक अनमोल विचार

Charlie Chaplin Biography and Quotes in Hindi – चार्ली चैप्लिन की जीवनी और प्रेरणादायक अनमोल विचार

Charlie Chaplin Biography

जन्म (Born): 16th April 1889 Walworth, London, England, UK

मृत्यु (Died) : 25 December 1977 (उम्र 88 वर्ष ) Vevey, Switzerland

जर्मनी में जब हिटलर (hitler) की तानाशाही से सभी खौफजदा थे तब उस दौर में एक कलाकार (actor) लोगों में व्याप्त डर को मिटाकर उनमें सुंदर कल्पना (beautiful thinking) को साकार करने निकल पङा था। राह आसान नही थी पर हौसला बुलंद था। गरीबी (poor) और बदहाली की भट्टी में पक कर वो कुंदन बना चुका था। जिसकी चमक (shine) ने करोङों लोगों के चेहरों पर मुस्कान बिखेर दी।

ऐसे हास्य महानायक का जन्म (birth) आज से 125 वर्ष पूर्व हुआ था और आज भी उनकी फिल्में पूरे विश्व (whole world) को हँसा रही हैं। वो कोई और नहीं बल्कि हम सबका प्रिय हास्य कलाकार चार्ली चैप्लिन (Charlie Chaplin) है।

वर्ष 2014 में पूरी दुनिया चार्ली चैप्लिन की 125वीं जयंती मना रही है। चार्ली (Charlie Chaplin) ने लोगों को सिखाया कि मखौल को खौफ के खिलाफ बतौर हथियार (weapon) कैसे इस्तेमाल किया जाता है। चार्ली ने लोगों के दिमाग में घर कर गए डर को मिटाकर उनमें बेहतर भविष्य की उम्मीदें भरी। (Charlie Chaplin Biography)

पांच-छह साल की छोटी उम्र में जब बच्चे खेलने-कूदने (playing) में व्यस्त होते है इस महानतम कलाकार ने उस समय कॉमेडी करके अपनी अनोखी अदाओं से दर्शको (audience) को लोटपोट करना शूरू कर दिया था | चार्ली (Charlie Chaplin) ने अपने घर को ही कॉमेडी की पाठशाला और अपने माता-पिता (parents) को ही अपना गुरु बनाया |

इनके माता-पिता दोनों ही अपने जमाने के अच्छे गायक (singer) और स्टेज के प्रसिद्ध कलाकार थे | एक दिन अचानक एक कार्यकम में उनकी माँ (mother) के तबीयत खराब होने की वजह से उनकी आवाज चली गयी | थिएटर (theater) में बैठे दर्शको द्वारा फेंकी कुछ वस्तुओ से वह बुरी तरह घायल (injured) हो गयी |

उस समय बिना पल की देरी किये इस नन्हे बालक ने थोडा घबराते हुए, लेकिन मन में दृढ़ विश्वास (strong will power) लिए अकेले ही मंच पर जाकर अपनी कॉमेडी के डीएम पर सारे शो (show) को सम्भाल लिया | उसके बाद चार्ली चैपलिन (Charlie Chaplin) ने जीवन में कभी पीछे मुडकर नही देखा |

कैनेडा में नौकरी कैसे पाए

Dubai Me Job Kaise Paaye

चार्ली (Charlie Chaplin) एक सफल हास्य अभिनेता होने के साथ साथ फिल्म निर्देशक और अमेरिकी सिनेमा (american theater) के निर्माता और संगीतज्ञ भी थे | चार्ली ने बचपन से लेकर 88 वर्ष की आयु तक अभिनय , निर्देशक (director) ,पटकथा , निर्माण और संगीत की सारी जिम्मेदारियो को बखूबी निभाया|

Charlie Chaplin अपने युग के सबसे रचनात्मक और प्रभावशाली व्यक्तियों (powerful peoples) में से एक थे | उन्होंने सारी उम्र सादगी को अपनाते हुए कॉमेडी (comedy) को ऐसी बुलन्दियो तक पहुचा दिया , जिसे आज तक दूसरा कलाकार छु भी नही पाया | (Charlie Chaplin Biography)

चार्ली न Sherlock Holmes के निर्माण के दौरान एक Page Boy की भूमिका के साथ अपने अभिनय जीवन की शुरुवात (starting) की | फिर वह नाट्यमंडली केसीज कोर्ट सर्कस में काम करने लगे थे | सन 1908 में वे Fred Karno company में शामिल हो गये और पियक्कड़ का अभिनय (Actor) करते हुए उन्होंने दर्शको का दिल जीत लिया था |

ट्रूप के साथ चार्ली जब अमेरिका (america) में कार्यक्रम पेश कर रहे थे तो उनके अभिनय से प्रभावित होकर फिल्म निर्माता (film producer) मैक सीनेट ने उनके साथ अनुबध किया , जिसके तहत उन्हें हफ्ते 150 डॉलर मिलने वाले थे |

सन 1914 में Making A Living नामक फिल्म में चार्ली ने पहली बार अभिनय (acting) किया | उन्होंने लिटिक ट्रम्प के किरदार को पर्दे पर साकार करने का निश्चय किया | और इसमें उन्हें अपार लोकप्रियता (immense famous) मिली | अगले वर्ष उन्होंने 35 फिल्मो में अभिनय किया | सन 1915 में चार्ली ने सेनेट की कम्पनी (company) छोड़ दी और एसने कम्पनी के साथ काम करने लगे |

यह कम्पने (company) उन्हें हर हफ्ते 1250 डॉलर का भुगतान कर रही थी | चार्ली (Charlie Chaplin) ने इसी दौरान अपने भाई सिडनी को बिजनस मैनजेर नियुक्त किया | इस कम्पनी के साथ चार्ली (Charlie Chaplin) ने पहले साल 14 फिल्मो में काम किया , जिसमे the Tramp को क्लासिक का दर्जा प्राप्त है | (Charlie Chaplin Biography)

26 साल की उम्र तक चार्ली (Charlie Chaplin) सुपर स्टार बन चुके थे | अब वे 6 लाख 70 हजार सालाना पैकेज के साथ म्यूच्यूअल कम्पनी (mutual company) की फिल्मो में अभिनय करने लगे थे | चार्ली (Charlie Chaplin) ने डगलस फेचरबैक्स के साथ मिलकर United Artist Company की स्थापना की |

बीस के दशक में उनकी अविस्मरणीय फिल्मो का निर्माण (development) हुआ जिसमे The Kid , The Pilgrim , Women in Paris और The Gold Rush जैसी फिल्मे शामिल है |

चार्ली ने अपनी आत्मकथा (biography) में लिखा है कि वह गाँधी जी की राजनीतिक स्पष्टवादिता और मजबूत मनोबल (strong will power) का सदा कायल रहा। एक बार चर्चिल से मुलाकात के दौरान चार्ली (Charlie Chaplin) ने गाँधी जी से मिलने की इच्छा जाहिर की थी।

संजोगवश उस समय गाँधी (gandhi ji) जी गोलमेज सम्मेलन हेतु लंदन में ही थे। लंदन में गाँधी जी से चार्ली (Charlie Chaplin) की मुलाकात बहुत रोमांचक रही।

गाँधी जी झोपङ-पट्टी इलाके में डेरा डाले हुए थे, चार्ली (Charlie Chaplin) उनसे मिलने वहीं पहुँचे। मुलाकात के दौरान भारत (india) में आजादी के लिये हो रहे आंदोलनो पर चार्ली ने गाँधी जी (gandhi ji) से अपने नैतिक सर्मथन को स्पष्ट किया। साक्ष्य बताते हैं कि दोनो के बीच काफी देर तक राजनितिक विषय (political) पर बातचीत चली।

ये वाक्या 1931 का है, इसी दौरान चार्ली की मुलाकात बर्नार्ड शॉ, एच.जी.वेल्स, श्रीमती एस्टर और प्रधानमंत्री मैकडोनाल्ड (mc donald) से भी हुई।

1931 में चार्ली दस वर्षों बाद अपने वतन लंदन आया था, अवसर था सिटी लाइट फिल्म (city film light) का मुहर्त शो इस उपलक्ष्य पर उसका भव्य स्वागत हुआ था।

Charlie Chaplin को जीवन में अनेक पुरस्कारों से भी सम्मानित किया गया था। 1929 में अकादमी मानद पुरस्कार द सर्कस (the circus) के लिये दिया गया। 1972 में लाइफ टाइम अकादमी पुरस्कार से अलंकृत किया गया।

1952 में सर्वोत्तम ओरिजनल म्युजिक स्कोर (original musical score) पुरस्कार लाइमलाइट के लिये प्राप्त हुआ। 1940 में द ग्रेट डिक्टेटर में किये अभिनय (Acting) के लिये सर्वोत्तम अभिनेता पुरस्कार, न्यूयॉर्क फिल्म क्रिटिक सर्कल अवार्ड से सम्मानित किया गया। 1972 में करिअर गोल्डन लायन (golden lion)  लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार से सम्मानित किया गया। (Charlie Chaplin Biography)

चार्ली की प्रसिद्धी का आलम ये है कि, वर्ष 1995 में ऑस्कर अवार्ड (oscar award) के दौरान द गार्जियन अखबार ने एक सर्वेक्षण करके ये जानना चाहा कि फिल्म समिक्षकों और दर्शकों (audience) का सबसे पसंदीदा हीरो कौन है, तो सर्वे रिपोर्ट देखकर आश्चर्य (shocked) हुआ कि, चार्ली की मृत्यु के दो दशक बाद भी चार्ली अधिकतर लोगों के पसंदीदा हीरो (favorite hero) थे।

Narendra Modi Biography and Quotes in Hindi

190 Funny Quotes in Hindi | 190 मजेदार कोट्स इन हिंदी

ये कहना अतिश्योक्ति न होगी कि चार्ली आज भी लगभग सभी के दिलों में बसते (living in hearts) हैं, उनके अभिनय से आज की पीढी भी आंनदित होती है। आज भी कई कलाकार उनके अभिनय (Acting) की नकल करते हैं।

चार्ली (Charlie Chaplin) ने 1918 में 16 वर्षीय अभिनेत्री मिन्द्रेड हैरिस के साथ शादी की | यह शादी दो साल तक ही टिक पाई | सन 1924 में उन्होंने एक ओर 16 वर्षीय अभिनेत्री लिटा ग्रे से शादी की | लिटा ग्रे ने दो पुत्रो (चार्ल्स जूनियर और सिडनी) को जन्म दिया | दाम्पत्य जीवन सुखद नही रह पाया और सन 1927 में दोनों अलग हो गये | सन 1936 में चार्ली ने तीसरी शादी पोलेट गोदार्द से की |

सन 1942 तक दोनों साथ रहे | उसी दौरान एक अभिनेत्री जॉन बैरी ने चार्ली पर मुकदमा कर आरोप लगाया कि वे उसके पुत्र के पिता थे | मेडिकल जांच में यह बात सिद्ध नही हुयी , फिर भी अदालत ने बैरी के भरनपोषण का खर्च चुकाने का आदेश चार्ली को दिया |

सन 1943 में चार्ली ने 18 वर्षीय उना ओ नील से शादी की | यह शादी खुशहाल साबित हुयी | उना न आठ संतानों को जन्म दिया | उन्होंने Citylight , The Great Dictator आदि श्रेष्ट फिल्मो का सृजन जारी रखा | द्वीतीय विश्व युद्ध के बाद अमेरिका के कम्यूनिस्टो के खिलाफ अभियान शुरू हो गया और चार्ली को भी निशाना बनाया गया |

Year 1952 में जब चार्ली छुट्टिया मनाने ब्रिटेन गये थे उसी समय उनके अमेरिका लौटने पर पाबंदी लगा दी गयी | चार्ली (Charlie Chaplin) स्विटजरलैंड के वेवी नामक स्थान पर फ़ार्म में रहने लगे |

जीवन के अंतिम दिनों में विशेष अकादमी पुरुस्कार ग्रहण करने के लिए सन 1972 में चार्ली (Charlie Chaplin) ने अमेरिका की यात्रा की | 25 दिसम्बर 1977 की सुबह को इस महान कलाकार की मृत्यु हो गयी | (Charlie Chaplin Biography)

चार्ली चैपलिन का करियर – Charlie Chaplin Career

चार्ली चैपलिन जब नाचनेवाले (dancers) लोगो के समूह ‘द एट लंकाशायर लेड’ मे शामिल हो गए थे तब उन्होंने 1899 और 1900 के दौरान इंग्लैंड (england) के सभी संगीत भवनों को भेट दी थी।

1903 में पहली बार उन्होंने जिम (gym), अ रोमांस ऑफ़ कोकेन’ में खबर देनेवाले लड़के का किरदार निभाया तथा। यह शो उस समय जुलाई महीने (july month) में लन्दन के ‘किंग्स्टन अपॉन थेम्स’ हॉल में हुआ था लेकिन शो ज्यादा कामयाब (successful) नहीं हो सका।

अक्तूबर 1903 से जून 1904 में चार्ली चैपलिन सेंटसबुरी के साथ में सफ़र (travel) कर रहे थे और उस दौरान उन्होंने कई सारे शो किये और वो सभी बहुत कामयाब (successful) भी हुए जिसके कारण वो अभिनेता विलियम जिलेट के साथ में अभिनय (acting) करने के लिए लन्दन चले गए।

1906 में ‘कासे सर्कस’ के ग्रुप में चार्ली चैपलिन (Charlie Chaplin) शामिल हो गए थे और वहा पर उन्होंने कई सारे कॉमेडी शो भी किये जिसकी वजह से वो काफी मशहूर (famous) भी हुए थे। जब जुलाई 1907 में उनके ग्रुप का काम खतम हो गया था तो कुछ महीने (months) के लिए उन्हें कुछ काम नहीं मिला था और वो किनिंगटन में अपने परिवार (family) के साथ में ही रहते थे।

1910 में उन्होंने ‘जिमी द फीयरलेस’ में मुख्य अभिनेता (actor) का किरदार निभाया था जिसके कारण चार्ली चैपलिन काफी मशहूर (famous) हो गए थे। इस शो के बाद में वो मीडिया की नजरो में आ गए थे जिसके चलते बहुत ही कम समय (very less time) में वो काफी मशहूर और कामयाब अभिनेता बन गए।

1913 में उन्होंने न्यू यॉर्क मोशन पिक्चर कंपनी (new york motion picture) के साथ में एक कॉन्ट्रैक्ट किया था जिसमे चार्ली चैपलिन को हर हफ्ते में 150 डॉलर मिलने वाले थे।

1914 में उन्होंने पहली बार ‘मेकिंग लिविंग’ फ़िल्म (film) में काम किया था। उस फ़िल्म में उन्होंने ‘एडगर इंग्लिश’ जो एक स्त्रीमहिला की तरह बर्ताव करने वाला इन्सान का किरदार निभाया था। (Charlie Chaplin Biography)

1914 ने उन्होंने कीस्टोन स्टूडियो (key stone studio) के ‘किड ऑटो रेसेस एट वेनिस’, ‘बिटवीन शावर’, ‘अ नाईट आउट’, ‘द चैंपियन’, ‘द ट्रंप’, ‘वर्क’, ‘अ वुमन’, ‘द बैंक’, ‘ट्रिपल ट्रबल’ और ‘पुलिस’ जैसी फिल्मो (film) मे उन्होंने बहुत बढ़िया काम किया।

सन 1916 से 1917 तक चार्ली चैपलिन ने ‘म्यूच्यूअल फ़िल्म कारपोरेशन’ के लिए फिल्मो (movies) को निर्देशित करना, फिल्मो की कहानी लिखना और कभी कभी फिल्मो मे अभिनेता (actor) के रूप में काम भी किया। जीन फिल्मो में उन्होंने काम किया उन फिल्मो में ‘द फ्लोरवाकर’, द काउंट’, ‘द वागाबांड’, ‘द पौनशॉप’, ‘‘द क्युअर’ और ‘द एडवेंचर’ जैसी प्रसिद्ध फिल्मे (famous movies) भी शामिल है।

1918 से लेकर तो 1923 तक उन्होंने कुल नौ फिल्मो (movies) में काम किया जिनको प्रसारित करने का काम ‘फर्स्ट नेशनल एक्झिबितर्स सर्किट’ ने किया था। उन नौ फिल्मो में ‘अ डॉग्स लाइफ’,  ‘पे डे’, ‘द पिलग्रिम’, ‘द बांड’,‘सनीसाइड’ और ‘द आयडल क्लास’ जैसी फिल्मे (movies) भी शामिल थी।

26 सितम्बर 1923 से उन्होंने ‘यूनाइटेड आर्टिस्ट्स लेबल’ के नाम से खुदी की फिल्मो (movies) को रिलीज़ करना शुरू कर दिया था। उन सभी फिल्मो (movies) के लिए उन्होंने निर्देशन किया, कुछ फिल्मो मे अभिनय (Acting) का काम भी किया और कुछ कुछ फिल्मे तो ऐसी थी की जिनकी कहानी लिखना और संगीत (music) देने का काम भी खुद चार्ली चैपलिन ने ही किया।

1925 में उनकी फ़िल्म ‘द गोल्ड रश’ को अकादमी अवार्ड (academy award) भी मिला। उस फिल्मो में खुद चार्ली चैपलिन अभिनेता थे और उस फ़िल्म (movie) का निर्देशन और निर्माण का काम भी उन्होंने ही संभाला था। वो फिल्मो उनके सर्वश्रेष्ट फिल्मो (best movie) में से एक फ़िल्म थी और आज भी उस फ़िल्म को लोग याद करते है।

सन 1928 में उनकी ‘द सर्कस’ फ़िल्म (movie) रिलीज़ हुई थी। उस फ़िल्म में उन्होंने एक विदूषक का किरदार निभाया था। उस मूक फ़िल्म (movie) का उस वक्त में सबसे अधिक कमाई करने वाली फिल्म (movies) में नाम शामिल कर लिया गया था। वो फ़िल्म केवल 70 मिनट की मूक फ़िल्म थी। (Charlie Chaplin Biography)

1936 मे उनकी ‘द मॉडर्न टाइम्स’ फ़िल्म (movies) आयी थी। उस फिल्म में दिखाया गया था की दुनिया में तेजी से बढ़ने वाले औद्योगिकीकरण (business) के साथ मेल बिठाना कितना कठिन काम होता है। उनकी सबसे प्रसिद्ध मूक फिल्मो (movies) में ‘मॉडर्न टाइम्स’ का भी नाम लिया जाता है।

सन 1940 में उनकी ‘द ग्रेट डिक्टेटर’ फ़िल्म आयी थी। यह फ़िल्म (movie) उस समय की सुपरहिट फ़िल्म थी और फिल्म ने बहुत कमाई भी की थी।

1952 में अकादमी अवार्ड जितने वाली फ़िल्म ‘लाइमलाइट’ रिलीज़ (release) की गई थी। इस फ़िल्म को लन्दन में शूट किया गया था। यह फ़िल्म प्रथम विश्व युद्ध (War) पर आधारित फ़िल्म (movie) थी। इस फिल्मे में चार्ली चैपलिन ने ‘काल्वेरो’ नाम के विदूषक का किरदार निभाया था।

1957 में उन्होंने ‘अ किंग इन न्यूयॉर्क’ नाम की कॉमेडी फ़िल्म (comedy movie) को निर्देशित किया था और उस फ़िल्म में उन्होंने खुद अभिनय (acting) भी किया था। यह फ़िल्म अमेरिका के राजनितिक और सामाजिक मुद्दों पर प्रकाश डालनेवाली फ़िल्म (movie) थी। इस फिल्म ने ठीकठा क कमाई की थी और इस फ़िल्म (movie) पर लोगो ने संमिश्र प्रतिक्रिया भी दी थी।

1967 में रिलीज़ हुई ‘अ काउंटेस फ्रॉम होन्ग कोंग’ फ़िल्म चार्ली चैपलिन की सबसे आखिरी हिट फ़िल्म थी। (Charlie Chaplin Biography)

Steve Jobs Biography and Quotes in Hindi

Rajnikanth Biography and Quotes in Hindi

चार्ली चैप्लिन के कुछ अनमोल विचारो को मैं यहाँ प्रस्तुत कर रहा हूँ

  1. हम सोचते (thinking) बहुत हैं और महसूस (feeling) बहुत कम करते हैं।
  1. बिना कुछ (without doing) करे कल्पना का कोई मतलब (no meaning) नहीं है।
  1. अपने अहम (Attitude) के प्रकाश में हम सब सम्राट (king) है।
  1. शीशा (mirror) मेरा सबसे अच्छा मित्र (friend) है क्योंकि जब मै रोता हूं तो वह कभी (never laughs) नहीं हँसता।
  1. दुष्ट दुनिया (evil world) में कुछ भी स्थायी नहीं है, हमारी मुसीबतें (problems) भी नहीं।
  1. हास्य टॉनिक (tonic) है, राहत है, दर्द (pain) रोकने वाला है। (Charlie Chaplin Biography)
  1. ज़िन्दगी (life) बढ़िया हो सकती है अगर लोग आपको अकेला (leave you alone) छोड़ दें।
  1. हँसी के बिना बिताया हुआ दिन बर्बाद (a waste day)किया हुआ दिन है।
  1. किसी आदमी का असली चरित्र (real character) तब सामने आता है जब वो नशे (drunk) में होता है।
  1. ज़िन्दगी करीब (near) से देखने में एक त्रासदी है , लेकिन दूर से देखने पर (comedy) एक कॉमेडी।
  1. मैं हमेशा बरसात (rain) में घूमना पसंद करता हूँ ताकि कोई मुझे रोते (crying) हुए ना देख पाए।
  1. यदि आप केवल मुस्कुराएंगे (smile) तो आप पाएंगे कि ज़िन्दगी अभी भी (precious) मूल्यवान है ।
  1. मेरा दर्द (pain) किसी के हँसने के कारण हो सकता है पर मेरी हँसी (my laugh) कभी भी किसी के दर्द के कारण नहीं होनी चाहिए।
  1. आप किसका अर्थ जानना चाहते हैं ? ज़िन्दगी (life) इच्छा है, अर्थ नहीं। (Charlie Chaplin Biography)
  1. ज़िन्दगी में एक बार अपने बारे में अवश्य सोचे (think about yourself once) अन्यथा आप संसार की सबसे बड़ी कॉमेडी (comedy) मिस कर सकते है।
  1. इस मक्कार दुनिया (bad world) में कुछ भी स्थायी नहीं है, यहाँ तक की हमारी परेशानिया (problems) भी नहीं।
  1. एक आवारा, एक सज्जन, एक कवि (a poet), एक सपने देखने वाला, एक अकेला आदमी, हमेशा रोमांस और रोमांच (hope of excitement) की उम्मीद करते है।
  1. असफलता (failure) महत्त्वहीन है। अपना मजाक (joke) बनाने के लिए हिम्मत चाहिए होती है।
  1. सच में हँसने के लिए आपको अपनी पीड़ा (pain) के साथ खेलने में सक्षम (capable) होना चाहिए।
  1. मैं ईश्वर (god) के साथ शांति से हूँ। मेरा टकराव इंसानों (human) के साथ है।
  1. मैं ऐसी सुन्दरता (beauty) के साथ धैर्यपूर्वक नहीं रह सकता जिसे समझने के लिए किसी को व्याख्या (interpretation) करनी पड़े।
  1. इंसानों की नफरत (hate rate) ख़तम हो जाएगी, तानाशाह मर जायेंगे, और जो शक्ति (power) उन्होंने लोगों से छीनी वो लोगों के पास वापस चली जायेगी। और जब तक लोग मरते रहेंगे, स्वतंत्रता कभी ख़त्म (never finishes) नहीं होगी।
  1. मैं सिर्फ और सिर्फ एक चीज रहता हूँ और वो है (a joker) एक जोकर। ये मुझे राजनीतिज्ञों (politicians) की तुलना में कहीं ऊँचे स्थान पर स्थापित करता है।
  1. मुझे कैरेक्टर (character) के बारे में कुछ पता नहीं था। लेकिन जैसे ही मैं तैयार हुआ, कपडे और मे-कप (clothes and makeup) मुझे उस व्यक्ति की तरह महसूस (feel) कराने लगे। मैं उसे जानने लगा, और स्टेज (stage) पे जाते-जाते वो पूरी तरह से पैदा हो गया।
  1. मैं लोगों (I am fore people) के लिए हूँ। इसका मैं कुछ नहीं कर सकता। (Charlie Chaplin Biography)
  1. मैं यकीन (believe) नहीं करता कि जनता जानती है कि उसे क्या चाहिए | मैंने अपने करीयर (carrier) से यही निष्कर्ष निकाला है।
  1. एक गरीब राजा (poor king) की तुलना में जल्द ही एक सफल धूर्त (successful sly) कहलाना चाहूँगा।
  1. हम सभी एक दूसरे की मदद (help) करना चाहते हैं। मनुष्य ऐसे ही होते हैं। हम एक दूसरे के सुख के लिए जीना (live) चाहते हैं, दुःख के लिए नहीं।
  1. मुझे लगता है कि सही समय (right time) पर गलत काम करना जीवन की विडंबनाओं (irony of life) में से एक है।
  1. मनुष्य एक व्यक्ति के रूप में (brilliant) प्रतिभाशाली है। लेकिन भीड़ के बीच मनुष्य एक नेतृत्वहीन राक्षस बन जाता है , एक महामूर्ख जानवर (most stupid animal) जिसे जहाँ हांका जाए वहाँ जाता है। (Charlie Chaplin Biography)
  1. ज़रूरतमंद दोस्त की मदद (can help friend) करना आसान है , लेकिन उसे अपना समय देना हमेशा संभव (not possible) नहीं हो पाता।
  1. मेरी सभी फिल्मे (movie) मुश्किल में पड़ने की योजना के इर्द- गिर्द बनती हैं , इसलिए मुझे गंभीरता से एक सामान्य सज्जन व्यक्ति (gentleman person) दिखने का मौका देतीं हैं। Kobe Bryant Biography in Hindi
  1. सिनेमा (cinema) सनक है। दर्शक वास्तव में स्टेज पर जीवंत अभिनेताओं (actors) को देखना चाहते हैं।
  1. मेरी ज़िन्दगी (in my life) में कई तकलीफे है पर मेरे होठ उनको नहीं जानते है। वो हमेशा मुस्कुराते (always smiling) है।
  1. आपको शक्ति (power- पॉवर) की तभी जरूरत होती है जब आप किसी को नुकसान पहुंचाना चाहे, अन्यथा प्यार (love) काफी है हर काम को करने के लिए।
  1. एक कॉमेडी फिल्म (comedy film) बनाने के लिए मुझे बस एक पार्क , एक पुलिसकर्मी (police officer) और एक सुन्दर लड़की की ज़रुरत होती है।
  1. मैं पैसों के लिए बिजनेस (business) में गया, और वहीँ से कला पैदा हुई। यदि इस टिपण्णी (comment) से लोगों का मोह भंग होता है तो मैं कुछ नहीं कर सकता। यही सच (truth) है। (Charlie Chaplin Biography)
  1. आप कभी भी एक इन्द्रधनुष (rainbow) नहीं ढूंढ पाएंगे यदि आप नीचे देख रहे है।
  1. तानाशाह खुद को आज़ाद कर लेते हैं, लेकिन लोगों को गुलाम (slave) बना देते हैं।
  1. ये बेरहम दुनिया (heartless world) है और इसका सामना (facing) करने के लिए तुम्हे भी बेरहम होना होगा।
  1. अंतत: , सबकुछ एक ढकोसला (gag) है।
  1. याद रखिये , आप हमेशा झपट (rush) सकते हैं वो भी बिना कुछ उठाये।

दोस्तों, आप यह Article Prernadayak पर पढ़ रहे है. कृपया पसंद आने पर Share, Like and Comment अवश्य करे, धन्यवाद!!

Albert Einstein Biography In Hindi

15 Simple Tips to build confidence in kids

111 Short Inspirational Quotes in Hindi  | 111 प्रेरणादायक कोट्स

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *