Diwali Puja Vidhi दिवाली की पूजा करने की विधि
Dharmik HindiMe India News Ramayan त्यौहार | Festivals

Diwali Puja Vidhi : दिवाली की पूजा करने की विधि

Diwali Puja Vidhi : दिवाली की पूजा करने की विधि

Diwali Puja Vidhi – दिवाली के दिन भगवान श्री गणेश जी और मां लक्ष्मी तथा श्री कुबेर जी की पूजा का विधान होता है। गृहस्थ लोगों को वृषभ काल में स्थिर लग्न में पूजा करनी चाहिए।

दीपावली की शाम को पूजा स्थल पर आप एक चौकी बिछाएं। और फिर इसके बाद गंगाजल डालकर चौकी को अच्छे से साफ करें। फिर इसके बाद भगवान श्री गणेश और माता लक्ष्मी जी एवं कुबेर जी की प्रतिमा को वहाँ पर स्थापित करें।

Diwali Stories in Hindi

Happy Diwali Facts in Hindi

इसके बाद पूजा स्थल पर श्री गणेश जी के सामने दाहिनी और आटे से नवग्रह बनाइये और पास में ही जल से भरा हुआ कलश रखें। अब उस कलश में कुछ सिक्के-सुपारी, गोमती चक्र, शहद, कौड़ियां, व गंगा जल इत्यादि डालिए.

और फिर उस कलश पर रोली से स्वास्तिक का चिन्ह बना लीजिये और मोली से कलश को 5 बार लपेट दें। इसके बाद उस पर आम के पत्ते लगा कर बड़ी दीयाली से कलश को ढंक लीजिये। और फिर उस दीयाली में चावल रखें। अब चावल के ऊपर लाल कपड़े में लपेटकर जटा नारियल को रख लीजिये. (Diwali Puja Vidhi)

इसके बाद अब आप पूजन स्थल पर किसी लाल कपड़े की थैली में 5 कौड़ियां, 5 गोमती चक्र, 5 हल्दी की गांठें, 21 साबुत बादाम 21 रख ले.

Diwali Beauty Tips

Diwali Health Tips

Diwali Pujan Vidhi

गुड़, पंच मेवा, फूल, घी, कमल का फूल, मिठाई, खील-बताशे आदि-आदि भगवान श्री गणेश और माता लक्ष्मी जी के आगे रख दीजिये। धनतेरस में खरीदे गए सामान को भी इसी पूजा स्थल पर साथ में ही रखें।

अब भगवान श्री गणेश जी और माता लक्ष्मी जी एवंम कुबेर जी के आगे 5 या 11 घी के दीपक जलाएं और अपनी आवश्यकता के अनुसार तेल के दीपक तैयार करके रखें। पूजा समाप्ति पर अन्य दीपक को भी मूर्ति के सामने के दीपक से प्रज्वलित कर घर में सभी स्थान, चारो कोनो पर रखिये.

Diwali Festival Stories in Hindi

Diwali Facts in Hindi

Diwali Puja Item List

और फिर अपने दाहिने हाथ में जल अक्ष और पुष्प लेकर गणेश जी और लक्ष्मी जी का ध्यान करते हुए संकल्प लेकर जमीन पर छोड़ दीजिये। अब पूजा के लिए राखी सभी मूर्तियों को तिलक कर घर के सभी सदस्यों को तिलक लगाइए.

अब सभी सामग्रियों पर गंगा जल का छिडकाव कर दें।अब विधिवत गणेश जी और मां लक्ष्मी जी के साथ ही कुबेर जी की भी पूजा अर्चना करें अर्थात श्री गणेश अथर्वशीर्ष और माता लक्ष्मीजी का श्री सूक्तम् का पाठ तथा कुबेरजी का पूजन करने से है। पूजा ख़तम होने के पश्चात आरती कीजिये। और दूसरे दिन सुबह लाल थैले को पूजा स्थान या फिर अपने लॉकर में रख दें। (Diwali Puja Vidhi)

दिवाली के दिन लोग अपने पैसों, गहनों, और बही-खातों की पूजा भी करते हैं। ऐसा सदियों से माना जाता है के ऐसा करने से मां लक्ष्मी जी का घर में वास होता है और आपको धन की कभी भी कोई कमी नहीं रहती है।

तो मित्रो, यह थी विधि दिवाली पूजन की. शेयर करना मत भूलियेगा, धन्यवाद.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *