Mark Zuckerberg Biography in Hindi , मार्क ज़ुकरबर्ग की जीवनी in Hindi
Biography in Hindi Internet World

Mark Zuckerberg Biography in Hindi – मार्क ज़ुकरबर्ग की जीवनी

Mark Zuckerberg Biography in Hindi – मार्क ज़ुकरबर्ग की जीवनी

Mark Zuckerberg ! मार्क ज़ुकरबर्ग पूरा नाम Mark Elliot Zuckerberg एक अमेरिकी computer programmer और इन्टरनेट उद्यमी हैं । world of internet में फेसबुक को लाकर उन्होंने सोशल मीडिया क्रांति को बढावा दिया । उनका जन्म 14 मई, 1984 White Plains, New York शहर में पिता एडवर्ड ज़ुकरबर्ग (Edward Zuckerberg) एक दन्त चिकित्सक और माँ करेन केम्प्नेर (Karen Kempner) मनोचिकित्सक के यहाँ हुआ था | (Mark Zuckerberg Biography)

वह आज के दिन में फेसबुक के CEO(chief executive officer), मुख्य कार्यकारी तथा साथ ही co-founder भी हैं । वर्ष 2015 के अंत में उनकी निजी संपत्ति 46$ अरब होने का अनुमान है। (Mark Zuckerberg Biography in Hindi)

मार्क ज़ुकरबर्ग का प्रारंभिक जीवन | Early Life of Mark Zuckerberg

Mark Zuckerberg ने कंप्यूटर पर सॉफ्टवेयर प्रोग्रामिंग सबसे पहले अपने पिता से सिखा । वह software development को लेकर इतने उत्साहित थे की उन्होंने उस उम्र में ही ZuckNet नामक सॉफ्टवेयर बनाया था जिससे उनके परिवार के लोग जैसे पिता के दन्त चिकित्सालय में use किया जाता था। उनके घर में भी एक कंप्यूटर से दुसरे कमरे के कंप्यूटर पर बातचीत या कुछ भी सूचित करने के लिए उनका software उपयोग में लाया जाता था ।

Zuckerberg और उनके 3 मित्र Andrew McCollum, Chris Hughes and Dustin Moskovitz ने 28 अक्टूबर, 2003 में FaceMash नाम से एक वेबसाइट भी डिजाईन किया था जिसके online software के द्वारा उपयोगकर्ता एक छात्र से दुसरे छात्र के फोटो के लिए “हॉट” या “नॉट” रेटिंग कर सकते थे ।

साथ ही अपने स्कूल के दौरान zuckerberg ने एक म्यूजिक प्लेयर (music player) भी बनाया था जिसका नाम था Synapse Media Player.

आज के दिन में फेसबुक का नाम लेते ही लोग Mark Zuckerberg को याद करते हैं । पर क्या आपको पता है फेसबुक की शुरुवात (starting) कहाँ से हुई थी ?

8 क्षेत्र जहां है नौकरी के खूब मौके – 8 Job Opportunities Area

एमबीए में काम आएँगी यह 6 टिप्स – 6 MBA Study Tips

Mark Zuckerberg Biography in Hindi

फेसबुक का इतिहास Facebook History (Mark Zuckerberg Biography in Hindi)

जैसा की हमने आपसे बताया फेसबुक की शुरुवात फरवरी 4, 2004 Harvard University में पढाई करने के दौरान उन्होंने अपने यूनिवर्सिटी के हॉस्टल (hostel room in university) कमरे में रहने वाले मित्रों के साथ लोंच किया था ।

सबसे पहले Zuckerberg के पास सोशल नेटवर्क वेबसाइट बनाने का विचार (thoughts) लेकर दिव्य नरेन्द्र आए थे । दिव्य नरेन्द्र एक अमेरिकी कारोबारी (American businessman) हैं जिन्होंने अपने शिक्षा के समय Harvard University में Zuckerberg को एक सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट बनाने की सलाह दी थी जिसका नाम Harvard Connection रखा गया।

पर बाद में Zuckerberg को अपना सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट बनाने का विचार आया जिसका डोमेन नाम उन्होंने thefacebook.com लिया था जो आज फेसबुक के (famous as facebook) नाम से मशहूर है ।

The Facebook फेसबुक को उस समय अपने स्कूल के छात्रों के लिए ही बनाया गया था । उसको कुछ इस तरीके से बनाया गया था जिससे कि छात्र अपने गुणों जैसे अपने कक्षा , अपने मित्रों तथा टेलीफोन नंबर के बारे में सूची कर सकते थे ।

Mark Zuckerberg Biography in Hindi

कुछ ही दिनों में Mark Zuckerberg ने फेसबुक को अन्य school students तक पहुँचाने का सोचा और Columbia, New York University, Stanford, Dartmouth, Cornell, Penn, Brown, and Yale से शुरू किया ।

Mark Zuckerberg बचपन से बहुत ही बुद्धिमान थे । उन्हें अपने स्कूल के maths, खगोल विज्ञानं, भौतिकी और शास्त्रीय अध्ययन के लिए पुरस्कृत भी किया गया था । उनके college के अनुसार वह फ्रेंच, हिब्रू, लैटिन, और प्राचीन यूनानी भाषा speak and write सकते थे ।

जब Mark Zuckerberg,  Harvard University में पढाई कर रहे थे उन्होंने अपने यूनिवर्सिटी के हॉस्टल (university hostel room) कमरे में रहने वाले मित्रों (Eduardo Saverin, Andrew McCollum, Dustin Moskovitz और Chris Hughes) के साथ मिल कर फेसबुक को लांच किया था ।

हलाकि उन्होंने अपने देश-भर में लोगों के सामने फेसबुक को बाद में रखा । फेसबुक की मदद से Mark Zuckerberg 23 साल की उम्र में करोड़पति (millionaire) बन चुके थे । देखते ही देखते फेसबुक इन्टरनेट पर बहुत ज्यादा मशहूर (very popular) बन गया ।

अक्टूबर 2006, जैसे ही फेसबुक पर 50 करोड़ ट्रैफिक पुरे हुए Yahoo! ने फेसबुक को 1 अरब $ में buying offer दिया पर Zuckerberg नें पूरी तरीके से मना कर दिया ।

वर्ष 2006 में Zuckerberg Palo Alto, California चले आए और वहाँ उन्होंने एक small house on lease पर लिया जहाँ उन्होंने अपना एक small office खोला ।

24 मई, 2007 को उन्होंने फेसबुक प्लेटफार्म (facebook platform) की घोषणा किया जिसके कारण पुरे विश्व भर से 800000+ से भी ज्यादा developer फेसबुक से जुड़े । एप्लीकेशन डेवेलोप (application developer) करने के लिए बहुत सारी तृतीय पक्ष की कंपनीयां फेसबुक से जुड़ने लगी।

उनमे से कुछ मुख्य कंपनियां थी, Microsoft, Amazon, Slide, RockYou, Box.net, Red Bull, Washington Post, Project Agape, Prosper, Snapvine, iLike, PicksPal, Digg, Plum ।

मई, 2008 को Mark Zuckerberg ने फेसबुक कनेक्ट(Facebook Connect) की घोषणा की जिससे फेसबुक पर लोगो को एक दुसरे से तथा दुसरे वेबसाइटो (other websites) के लिए उनके फेसबुक पहचान, मित्रों और गोपनीयता को साँझा (share easily) करने में आसानी हो ।

Mark Zuckerberg जितना हो सके लोगों से सिखने की चाह (eager to learn) रकते है । वह आज भी इतना सफल होने पर भी 12-14 घंटा या कभी-कभी तो पुर दिन facebook के कार्यालय (office) में काम करते हैं ।

वर्ष 2009 में Mark Zuckerberg ने अपने वित्तपोषण रणनीतियों के लिए Netscape के पूर्व मुख्य वित्तीय अधिकारी Peter Currie से सलाह लिया  ।

2010 में अमरीकी पत्रकार Steven Levy का कहना था कि Mark Juckerberg अपने आपको स्पष्ट रूप (clearly) से हैकर (Hacker) मानते थे । ऐसा सच में था क्योंकि Zuckerberg कहते थे :-

It’s OK to break things” “to make them better

मतलब अगर आप किसी भी चीज को सही से जोड़ना (fix) चाहते हैं या ठीक करना चाहते हैं तो आपको पहले उस चीज को अलग-अलग करना पड़ेगा या तो तोडना (break) पड़ेगा ।

50 Interesting Facts about IPL in Hindi | IPL से जुड़े 50 रोचक तथ्य

Chandrayaan 2 Facts in Hindi | चंद्रयान 2 से जुड़े 50 रोचक तथ्य

Mark Zuckerberg Biography in Hindi

वर्ष 2010 में Vanity fair मैगज़ीन में सुचना युग के सबसे प्रभावशाली लोगों (effective peoples) में उन्हें प्रथम स्थान पर जगह मिली थी जबकि 2009 में उन्हें 23वा स्थान पर रखा गया था । उसी वर्ष NewStatesMan ब्रिटिश राजनीतिक (politicians) और सांस्कृतिक पत्रिका में उन्हें मुख्य 50 प्रभावशाली फिगर्स के लिस्ट में रखा गया ।

Mark Zuckerberg ने वर्ष 2011 में अमरीकी Public Broadcasting Service (PBS) के इंटरव्यू (interview) में बताया कि फेसबुक को इन्टरनेट पर मजबूत (strengthen the internet) बनाने और सही प्रबंधन टीम के निर्माण के लिए Apple के सह-संस्थापक Steve Jobs ने उन्हें सलाह दी थी ।

Mark Zuckerberg ने 19 मई 2012 को अपनी लम्बे समय की प्रेमीका Priscilla Chan, California की रहने वाली से शादी (marriage) की और आज उनकी दो बेटी हैं Maxima Chan Zuckerberg जिसका जन्म 1 दिसम्बर 2015 को हुआ और August Chan Zuckerberg का जन्म अगस्त 2017 में हुआ।

वर्ष 2012 को Zuckerberg ने Moscow में रूस के प्रधानमंत्री Dmitry Medvedev से सोशल मीडिया (social media) के प्रचार तथा फेसबुक के मार्केट (market of facebok) को और आगे बढ़ाने के लिए ।

वर्ष 2013 में Zuckerberg ने इन्टरनेट की दुनिया (world of internet) में एक और नया प्रोजेक्ट Internet.org को शुरू किया । इस प्रोजेक्ट को फेसबुक के साथ-साथ अन्य 6 कंपनियां Samsung, Ericsson, MediaTek, Opera Software, Nokia and Qualcomm) भी जुड़े है जिससे इन्टरनेट की सुविधाओं को ज्यादा-ज्यादा इन्टरनेट ना उपयोग कर पाने वाले लोगों (go to more peoples) तक पहुंचा सकें।

दिसम्बर 11, 2014 में Zuckerberg ने अपनी कंपनी के मुख्यालय (head office) में एक प्रश्न उत्तर सत्र में लोगों का जवाब देते हुआ कहा फेसबुक से लोगों का समय बर्बाद (not wasting time) नहीं होता क्योंकि इससे लोग अपनों से और अपने समाज से जुड़े (connected with society) रहते हैं । साथ ही Facebook ने साल 2014 में दुनिया कि सबसे पोपुलर Chatting App –WhatsApp को 20 बिलियन अमरीकी डॉलर (American dollar) में ख़रीदा।

सितम्बर 27, 2015 Zuckerberg भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (president narendra modi) से मिले जिसमे भारत में इन्टरनेट (internet) को बढ़ावा देने के बारे में बहुत सारी बातचीत हुई और मोदी ने भी उनकी तारीफ की ।

Kobe Bryant Biography in Hindi

मार्क ज़ुकरबर्ग की प्रेरणा – Inspiration for Mark Zuckerberg

(Mark Zuckerberg Biography in Hindi)

मार्क ज़ुकरबर्ग ने इतने कम समय में सफलता (success in less time) प्राप्त की यह कोई जादू नहीं है उनकी कड़ी मेहनत का फल है । उन्होंने अपने रूचि को अपना उत्साह (excitement in interest) बनाया और आगे बढ़ते चले गए । लोग अपने अन्दर के ज्ञान (knowledge) को समझ नहीं पाते पर उन्हें यह बात बचपन (childhood) से ही समझ में आगया था जब उनको क्या करना है और किस दिशा को अपनाना है।

एक और बात उन्होंने कभी भी हार (never quit) नहीं माना ! जब उनकी कंपनी में बहुत सारी मुश्किलों का दौर (hard life) चल रहा था तब भी उन्होंने हार नहीं मानी और Yahoo! को अपनी कंपनी बेचने (reject offer of selling company) के लिए मना कर दिया । उनकी हार एक छोटी-छोटी बातों से पता चल जाता है कि वह इतने सफल (successful today) आज क्यों है, और आगे भी सफलता प्राप्त करते रहेंगे ।

दोस्तों, आप यह Article Prernadayak पर पढ़ रहे है. कृपया पसंद आने पर Share, Like and Comment अवश्य करे, धन्यवाद!!

Steve Jobs Biography and Quotes in Hindi

Rajnikanth Biography and Quotes in Hindi

Albert Einstein Biography In Hindi

https://prernadayak.com/bhagat-singh-ke-20-krantikari-anmol-vichar-%e0%a4%ad%e0%a4%97%e0%a4%a4-%e0%a4%b8%e0%a4%bf%e0%a4%82%e0%a4%b9-%e0%a4%95%e0%a5%87-20-%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%82%e0%a4%a4%e0%a4%bf/

Maharana Pratap Biography in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *