Monkeypox Virus: चाइना से आया एक और खतरनाक Monkey B Virus, कोरोना, स्मॉलपॉक्स से मिलते जुलते है इसके लक्षण
Health HindiMe India News Internet World

Monkeypox Virus: Symptoms, Treatment, Cases in Hindi

Monkeypox Virus: चाइना से आया एक और खतरनाक Monkey B Virus, कोरोना, स्मॉलपॉक्स से मिलते जुलते है इसके लक्षण

Monkeypox Virus, Symptoms, Treatment, Cases

दोस्तों, कोरोना की महामारी अभी समाप्त नहीं हुई, इस बीच कई और तरह की बीमारियों का डर लोगों को सता रहा है. और इधर, चाइना से आए एक और बेहद घातक वायरस के बारे में पता चला है जिसे मंकी बी वायरस (Monkey B virus) या मंकीपॉक्स (Monkeypox) के नाम से जाना जा रहा है.

कोरोना की तरह लक्षण

दरअसल, इस बीमारी को भी कोरोना संक्रमण की तरह ही मना जा रहा है. यह किसी जानवर या फिर व्यक्ति के साथ संपर्क में आने से ही फैलता है. खबरों की बात मानें तो चीन की राजधानी बीजिंग में यह वायरस को पहली बार पाया गया था. जहां एक बंदर के काटने के द्वारा एक व्यक्ति की कुछ दिनों में मौत हो गयी.

अब इस वायरस का नया मामला अमेरिका के टेक्सास शहर में भी पाया गया है. दरअसल, मंकीपॉक्स वायरस का ताजा मामला जिस इंसान में पाया गया है वो इसी जुलाई 2021 को फ्लाइट से नाइजीरिया देश से अटलांटा शहर जा रहा था.

फिर वहां से वह जुलाई को डालास शहर गया था. इस मरीज को डालास शहर के एक अस्पताल में आइसोलेशन में रखा हुआ है जहां उसकी स्थिति फिलहाल ठीक बताई जा रही है. (Monkeypox Virus)

कैसे फैलता है मंकीपॉक्स वायरस

यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में सांसों के द्वारा अथवा किसी तरल पदार्थ के माध्यम से भी फैल सकता है. मंकी बी (Monkey B) वायरस शुरूआत में कोरोना के लक्षणों की तरह से ही फ्लू, सिर दर्द इत्यादि से शुरू होती है. और फिर बाद में स्कीन पर चेचक बीमारी की तरह ही गंभीर रूप से बड़े दाने उठने लग जाते है.

इसका संक्रमण 2 से 4 सप्ताह तक रह सकता है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) की मानें तो इसका समय पर इलाज नहीं हुआ तो इसके 100 में 10 संक्रमित व्यक्ति इस बीमारी से मर सकते हैं.

क्यों नाम पड़ा मंकीपॉक्स

दरअसल, एक रिपोर्ट के मुताबिक मंकीपॉक्स (Monkey Pox) सबसे पहले सन 1950 में बंदरों में पाए गया था. जिसके बाद यह वायरस इंसानों में पहली बार सन 1970 में कांगो देश में मिला था. इसके लक्षण  स्मॉलपाक्स (Small Pox) की तरह मिलते है. इन्हीं कारणों की वजह से इस बीमारी का नाम मंकी वायरस या मंकीपॉक्स पड़ा है. (Monkeypox Virus)

किन-किन जीवों से फैल रही ये बीमारी

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ – WHO) की बात मानें तो इस बीमारी को मुख्य रूप से डॉर्मिस (Dormice), रस्सी गिलहरी और प्राइमेट (Primates), गैम्बियन पाउच वाले चूहे (Gambian Pouched Rats), ट्री गिलहरी (Tree Squirrels),  जैसे जीव इस बीमारी को सब जगह फैला रहे है.

मंकी बी वायरस या मंकीपॉक्स के लक्षण

  • इस बीमारी से संक्रमित व्यक्ति को काफी थकान महसूस होगी
  • ठंड लगना भी इस बीमारी के आम लक्षणों में से एक है
  • कमजोरी महसूस होगी
  • तेज बुखार का होना
  • शरीर के कई हिस्सों में सूजन हो सकती है
  • असहनिय सिरदर्द भी हो सकता है
  • त्वचा में जगह-जगह पर लाल चकत्ते पड़ सकते है
  • यह संक्रमण आपके शरीर में अधिकतम 3 सप्ताह तक रह सकता है
  • मांसपेशियों और जोड़ों में तेज दर्द हो सकता है.
  • स्मॉलपाक्स की तरह ही बड़े-बड़े खुजली वाले दाने भी हो सकते है
  • कई कंडीशन में यह लाल चकत्ते घाव का रूप ले सकते है

https://prernadayak.com/10-life-changing-quotes-hindi-%e0%a4%9c%e0%a4%bc%e0%a4%bf%e0%a4%a8%e0%a5%8d%e0%a4%a6%e0%a4%97%e0%a5%80-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%ae%e0%a4%be%e0%a4%af%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%b8%e0%a4%ae%e0%a4%9d/

दाँत और जीभ – हिंदी कहानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *