गरीब की बेटी, होटल और अफसर – Poor Man Daughter, Hotel and Officer
Hindi Kahani Hindi Story Motivational Story In Hindi

गरीब की बेटी, होटल और अफसर – Poor Man Daughter, Hotel and Officer

गरीब की बेटी, होटल और अफसर – Poor Man Daughter, Hotel and Officer

Poor Man Daughter, Hotel and Officer – एक फटी धोती और फटी कमीज पहने एक व्यक्ति (man) अपनी 15-16 साल की बेटी के साथ एक बड़े होटल में पहुंचा। उन दोंनो को कुर्सी (chair) पर बैठा देख एक वेटर ने उनके सामने दो गिलास साफ ठंडे पानी के रख दिए और पूछा- आपके लिए क्या लाना है?

उस व्यक्ति (Poor Man) ने कहा- “मैंने मेरी बेटी को वादा (promise) किया था कि यदि तुम कक्षा दस में जिले में प्रथम आओगी तो मैं तुम्हे शहर के सबसे बड़े होटल (hotel) में एक डोसा खिलाऊंगा।

इसने वादा पूरा कर दिया। कृपया इसके लिए एक डोसा (dosa) ले आओ।”वेटर ने पूछा- “आपके लिए क्या लाना है?” उसने कहा-“मेरे पास एक ही डोसे का पैसा है।”पूरी बात सुनकर वेटर (waiter) मालिक के पास गया और पूरी कहानी बता कर कहा-“मैं इन दोनो को भर पेट नास्ता कराना चाहता हूँ।

अभी मेरे पास पैसे (money) नहीं है,इसलिए इनके बिल की रकम आप मेरी सैलेरी से काट लेना।”मालिक ने कहा- “आज हम होटल (hotel) की तरफ से इस होनहार बेटी की सफलता की पार्टी देंगे।”

होटलवालों ने एक टेबल (table) को अच्छी तरह से सजाया और बहुत ही शानदार ढंग से सभी उपस्थित ग्राहको (customers) के साथ उस गरीब बच्ची की सफलता का जश्न मनाया।मालिक ने उन्हे एक बड़े थैले में तीन डोसे और पूरे मोहल्ले में बांटने के लिए मिठाई उपहार स्वरूप पैक (pack) करके दे दी। इतना सम्मान पाकर आंखों में खुशी के आंसू (tears of happiness) लिए वे अपने घर चले गए।

समय बीतता गया और एक दिन वही लड़की I.A.S. exams पास कर उसी शहर में कलेक्टर बनकर आई।उसने सबसे पहले उसी होटल (hotel) मे एक सिपाही भेज कर कहलाया कि कलेक्टर साहिबा नास्ता करने आयेंगी।

होटल मालिक (hotel owner) ने तुरन्त एक टेबल को अच्छी तरह से सजा दिया।यह खबर सुनते ही पूरा होटल ग्राहकों (customers) से भर गया।

गरीब की बेटी, होटल और अफसर

कलेक्टर रूपी वही लड़की होटल में मुस्कराती (smile) हुई अपने माता-पिता के साथ पहुंची। सभी उसके सम्मान में खड़े हो गए। होटल के मालिक ने उन्हे गुलदस्ता भेंट किया और आर्डर (order) के लिए निवेदन किया।उस लड़की ने खड़े होकर होटल मालिक और उस बेटर (waiter) के आगे नतमस्तक होकर कहा- “शायद आप दोनों ने मुझे पहचाना नहीं।

मैं वही लड़की (girl) हूँ जिसके पिता (Poor Man) के पास दूसरा डोसा लेने के पैसे नहीं थे और आप दोनों ने मानवता की सच्ची मिसाल पेश करते हुए,मेरे पास होने की खुशी में एक शानदार पार्टी (grand party) दी थी और मेरे पूरे मोहल्ले के लिए भी मिठाई पैक करके दी थी।

आज मैं आप दोनों की बदौलत ही कलेक्टर (collector) बनी हूँ।आप दोनो का एहसान में सदैव याद रखूंगी।आज यह पार्टी मेरी तरफ से है और उपस्थित सभी ग्राहकों एवं पूरे होटल स्टाफ का बिल (bill of hotel) मैं दूंगी।कल आप दोनों को “” श्रेष्ठ नागरिक “” का सम्मान एक नागरिक मंच (stage) पर किया जायेगा।

Japanese Warrior and Mouse Story

शिक्षा– किसी भी गरीब की गरीबी का मजाक (fun) बनाने के वजाय उसकी प्रतिभा का उचित सम्मान करें

दोस्तों, आप यह Article Prernadayak पर पढ़ रहे है. कृपया पसंद आने पर Share, Like and Comment अवश्य करे, धन्यवाद!!

Hindi Kahaniya   | Kahaniya in Hindi  | Pari ki Kahani  | Moral Stories in Hindi  | Parilok ki Kahani  |Jadui Pariyon ki Kahani | Pari ki Kahani in Hindi |Motivational Stories in Hindi | Thumbelina Story in Hindi | Rapunzel ki Kahani | Cinderella ki Kahani | Bhoot ki Kahani | Pariyon ki Kahani | Jadui Chakki Ki Kahani | Short Moral Stories in Hindi | Prernadayak Kahani in Hindi for Students | Motivational Story in Hindi | Short Moral Story in Hindi

Forbes 100 Highest Paid Athletes in the World in Hindi

JioMart Distributor के लिए कैसे Registration करे?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *