Rajnikanth Biography and Quotes in Hindi
Anmol Vachan Biography in Hindi Quotes in Hindi अनमोल वचन

Rajnikanth Biography and Quotes in Hindi

रजनीकांत के बस कंडक्टर से सुपरस्टार बनने की कहानी – Rajnikanth Biography and Quotes in Hindi

Rajnikanth Biography

नाम Name – शिवाजी राव गायकवाड (रजनीकांत)
जन्म Birth – 12 दिसमबर 1950
राष्ट्रीयता nationality– भारतीय,
उपलब्धि Achievements – तमिल अभिनेता, निर्माता, सूपर स्टार,

रजनीकांत – आम लोगों के लिए उम्मीद (symbol of hope) का प्रतीक| यह कहना कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी कि रजनीकांत ऐसे इंसान (human) हें जिन्होंने फर्श से अर्श (road to riches) तक आने की कहावत को सत्य (true) साबित करके बताया हो|

दुनिया (world) में ऐसे कई लोग हैं जिन्होंने बड़ी बड़ी सफलताएं अर्जित (big success in life) की पर जिस तरह रजनीकांत ने अभावों और संघर्षों में इतिहास रचा (create history) है वैसा पूरी दुनिया में कम ही लोग कर पाएं होंगे|

एक कारपेंटर (carpenter) से कुली बनने, कुली से बी.टी.एस. कंडक्टर और फिर एक कंडक्टर (conductor) से विश्व के सबसे ज्यादा प्रसिद्ध सुपरस्टार (famous superstar) बनने तक का सफ़र कितना परिश्रम भरा (hard work) होगा ये हम सोच सकते हैं|

रजनीकांत का जीवन (not just his life) ही नहीं बल्कि फिल्मी सफ़र भी कई उतार चढ़ावों (ups and downs) से भरा रहा है| जिस मुकाम पर आज रजनीकांत काबिज़ (stand) हैं उसके लिए जितना परिश्रम और त्याग चाहिए होता है शायद रजनीकांत ने उससे ज्यादा (did more hard work than needed)  ही किया है|

संघर्षपूर्ण बचपन – Early Struggling Life of Rajnikanth

रजनीकांत का जन्म 12 दिसम्बर 1950 को कर्नाटक के बैंगलोर (Bangalore) में एक बेहद मध्यमवर्गीय मराठी परिवार (middle class Marathi family) में हुआ था| वे अपने चार भाई बहनों में सबसे (youngest child in home) छोटे थे| उनका जीवन शुरुआत (life starts) से ही मुश्किलों भरा रहा, मात्र पांच वर्ष की उम्र में ही उन्होंने अपनी माँ को खो (lost his mother) दिया था|

पिता पुलिस में एक हवलदार (constable) थे और घर की माली स्तिथि ठीक (financial situation was not good) नहीं थी| रजनीकांत ने युवावस्था (young age) में कुली के तौर पर अपने काम की शुरुआत की फिर वे ब.टी.एस में बस कंडक्टर (job of bus conductor) की नौकरी करने लगे| (Rajnikanth Biography)

रजनीकांत का अंदाज़ – Style of Rajnikanth

एक कंडक्टर के तौर (as a conductor) पर भी उनका अंदाज़ किसी स्टार से (style was not less than superstar) कम नहीं था| वो अपनी अलग तरह से टिकट काटने (cut the ticket) और सीटी मारने की शैली (style) को लेकर यात्रियों (travelers) और दुसरे बस कंडक्टरों के बीच विख्यात (famous) थे|

कई मंचों पर नाटक करने के कारण फिल्मों (film) और एक्टिंग (acting) के लिए शौक तो हमेशा से ही था और वही शौक धीरे धीरे जुनून (changes into obsession) में तब्दील हो गया|

लिहाज़ा उन्होंने अपना काम छोड़ कर चेन्नई (Chennai) के अद्यार फिल्म इंस्टिट्यूट (film institute) में दाखिला ले लिया| वहां इंस्टिट्यूट में एक नाटक के दौरान उस समय के मशहूर फिल्म निर्देशक (famous film director) के. बालाचंदर की नज़र रजनीकांत पर पड़ी और वो रजनीकांत से इतना प्रभावित (impress) हुए कि वहीँ उन्हें अपनी फिल्म में एक चरित्र (offer of a character) निभाने का प्रस्ताव दे डाला| (Rajnikanth Biography)

फिल्म का नाम था अपूर्व रागांगल| रजनीकांत की ये पहली फिल्म (first movie of rajnikant) थी पर किरदार बेहद छोटा (small ole) होने के कारण उन्हें वो पहचान नहीं मिल पाई, जिसके वे योग्य थे| लेकिन उनकी एक्टिंग की तारीफ़ (everyone appraise his acting) हर उस इंसान ने की जिसकी नज़र उन पर पड़ी|

Kobe Bryant Biography in Hindi

विलेन से हीरो बने – Filmi Career of Rajnikanth

रजनीकांत का फिल्मी सफ़र भी किसी फिल्म से (not less than a movie) कम नहीं| उन्होंने परदे पर पहले नकारात्मक चरित्र (negative character) और विलेन के किरदार से शुरुआत की, फिर साइड रोल (side role) किये और आखिरकार एक हीरो के तौर (as a hero) पर अपनी पहचान बनाई|

हालांकि रजनीकान्त,  निर्देशक के. बालाचंदर को अपना गुरु (teacher) मानते हैं पर उन्हें पहचान मिली निर्देशक एस.पी मुथुरामन की फिल्म चिलकम्मा चेप्पिंडी से|  इसके बाद एस.पी. की ही अगली फिल्म ओरु केल्विकुर्री में वे पहली बार हीरो (first time as a hero) के तौर पर अवतरित हुए|

इसके बाद रजनीकांत ने पीछे मुड़कर नहीं (never seen back again) देखा और दर्जनों हिट फिल्मों की लाइन (line of hit movies) लगा दी| बाशा, मुथू, अन्नामलाई, अरुणाचलम, थालाप्ति उनकी कुछ बेहतरीन फिल्मों (good movies) में से एक हैं}|

उम्र कोई मायने नहीं रखती – Age is just a number

रजनीकांत ने यह साबित (prove) कर दिया की उम्र केवल एक संख्या है (age is just a number) और अगर व्यक्ति में कुछ करने की ठान ले तो उम्र कोई मायने (age doesn’t matter) नहीं रखती| 65 वर्ष के उम्र के पड़ाव पर वे आज भी वे शिवाजी- द बॉस, रोबोट (robot), कबाली (kabali) जैसी हिट फिल्में देने का माद्दा रखते हैं|

65 वर्षीय रजनीकांत के लोग इतने दीवाने है कि कबाली फिल्म ने रिलीज़ (before kabali movie release) होने से पहले ही 200 करोड़ रूपये कमा लिए |

 एक समय ऐसा भी था जब एक बेहतरीन अभिनेता होने के बावजूद उन्हें कई वर्षों तक नज़रंदाज़ (ignore him for years) किया जाता रहा पर उन्होंने अपनी हिम्मत (never quit) नहीं हारी|

ये बात रजनीकांत के आत्मविश्वास को और विपरीत परिस्तिथियों (opposite situations) में भी हार न मानने वाले जज्बे का परिचय देती है| (Rajnikanth Biography)

जमीन से जुड़े हुए – Humbleness of Rajnikanth

रजनीकांत आज इतने बड़े सुपर सितारे (biggest superstar) होने के बावजूद ज़मीन से जुड़े हुए हैं| वे फिल्मों के बाहर असल जिंदगी (real life) में एक सामान्य व्यक्ति (normal person) की तरह ही दिखते है|

वे दूसरे सफल लोगों से विपरीत असल जिंदगी में धोती-कुर्ता (wearing dhoti kurta) पहनते है| शायद इसीलिए उनके प्रशंसक (fans) उन्हें प्यार ही नहीं करते बल्कि उनको पूजते हैं|

रजनीकांत के बारे में ये बात जगजाहिर (everyone knows) है कि उनके पास कोई भी व्यक्ति मदद (someone asks him for help) मांगने आता है वे उसे खाली हाथ (empty hands) नहीं भेजते|

Rajinikanth कितने प्रिय सितारे हैं, इस बात का पता इसी से लगाया जा सकता है कि दक्षिण (south) में उनके नाम से उनके प्रशंशकों ने (temple on the name of rajnikant) एक मंदिर बनाया है| इस तरह का प्यार और सत्कार (love and respect) शायद ही दुनिया के किसी सितारे (star) को मिला हो|

चुटुकलों की दुनिया (in the world of jokes) में रजनीकांत को ऐसे व्यक्ति (person) के रूप में जाना जाता है जिसके लिए नामुनकिन कुछ भी नहीं (nothing is impossible) और रजनीकांत लगातार इस बात को सच साबित करते रहते है| आज वे 65 वर्ष की उम्र में रोबोट-2 फिल्म (film) पर काम कर रहे है, उनका यही अंदाज लोगों के दिलों पर (lives in the heart of peoples) राज करता है| (Rajnikanth Biography)

रजनीकांत के अनमोल विचार | Rajnikant Quotes in Hindi

1. ईश्वर (ishwar) बुरे लोगों को बहुत कुछ देता है परंतु अंत में वह उन्हें असफल (fail) कर देता है। ईश्वर अच्छे लोगों का बहुत परीक्षा (test) लेता है परंतु कभी उन्हें निराश नहीं होने देता।

2. कड़ी मेहनत (hard work) के बिना आपको कुछ नहीं मिल सकता। बिना मेहनत (without working) किए कुछ पाना उचित नहीं होता।

3. एक लालची आदमी और गुस्सैल औरत (angry woman) कभी भी सुखपूर्वक नहीं रह सकते।

4. जहां निर्माण (development) है ,वहां निर्माता होना चाहिए।

5. मैं गरीब के जैसे मर (die) जाऊंगा लेकिन एक कायर जैसा नहीं।

6. मेडिटेशन ही उर्जा (energy) की रहस्य है।

7. चाहे आपके पास Maruti हो या BMW हो, सड़क तो एक रहती है। चाहे आप इकोनॉमिक क्लास (economic class) में सफ़र करो या बिजनेस क्लास में , आपका गंतव्य तो नहीं बदलता। चाहे आपके पास रोलेक्स (Rolex) हो या टाइटन हो, समय तो एक ही दिखाती हैं। एक विलासितापूर्ण जिंदगी (rich lifestyle) का सपना देखना कोई बुराई नहीं है। हमें अपनी जरूरत (care of need) का ख्याल रखना चाहिए कि कहीं हमारी जरूरत लालच (greed) में ना बदल जाए। जरूरत हमेशा पूरी होती है, परंतु लालच कभी नहीं पूरा हो पाता। (Rajnikanth Biography)

8. भगवान आपको उतने ही शक्तिशाली (powerful) लगते हैं, जितना की आप उनमें भरोसा करोगे।

10 Prernadayak Suvichar Jo Zindagi Badal Denge | 10 प्रेरणादायक सुविचार जो जिंदगी बदल दे

https://prernadayak.com/sandeep-maheshwari-ke-10-prernadayak-vichar-%e0%a4%b8%e0%a4%82%e0%a4%a6%e0%a5%80%e0%a4%aa-%e0%a4%ae%e0%a4%be%e0%a4%b9%e0%a5%87%e0%a4%b6%e0%a5%8d%e0%a4%b5%e0%a4%b0%e0%a5%80-%e0%a4%95%e0%a5%87-10/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *