Bhai Behen ka Pyaar – Story of Brother and Sister
Heart Touching Stories in Hindi Hindi Kahani Hindi Story Motivational Story In Hindi

Bhai Behan ka Pyaar – Story of Brother and Sister

Bhai Behan ka Pyaar – Story of Brother and Sister

Story of Brother and Sister – एक 6 वर्ष का लडका (boy) अपनी 4 वर्ष की छोटी बहन (sister) के साथ बाजार से जा रहा था। अचानक से उसे लगा की,उसकी बहन (sister) पीछे रह गयी है।

वह रुका, पीछे मुडकर देखा तो जाना कि, उसकी बहन एक खिलौने के दुकान (toy shop) के सामने खडी कोई चीज निहार रही है। लडका पीछे आता है और बहन से पुछता है, “कुछ चाहिये तुम्हे ?” लडकी एक गुड़िया की तरफ उंगली (finger) उठाकर दिखाती है।

बच्चा उसका हाथ पकडता है, एक जिम्मेदार बडे भाई की तरह अपनी बहन को वह गुड़िया (doll) देता है। बहन बहुत खुश हो गयी है। दुकानदार यह सब देख रहा था, बच्चे का व्यवहार (behavior) देखकर आश्चर्यचकित भी हुआ ….

अब वह बच्चा बहन के साथ काउंटर (counter) पर आया और दुकानदार से पुछा, “सर, कितनी कीमत (price) है इस गुड़िया की ?”

Bhoot ki Kahani –  भूत की कहानी

दुकानदार (shopkeeper) एक शांत व्यक्ती है, उसने जीवन के कई उतार चढाव (ups and downs in life) देखे होते है। उन्होने बडे प्यार (love) और अपनत्व से बच्चे से पुछा, “बताओ बेटे, आप क्या दे सकते हो?”

बच्चा अपनी जेब (pocket) से वो सारी सीपें बाहर निकालकर दुकानदार को देता है जो उसने थोडी देर पहले बहन (sister) के साथ समुंदर किनारे से चुन चुन कर लायी थी।
दुकानदार वो सब लेकर युं गिनता है जैसे पैसे (counting money) गिन रहा हो।

सीपें गिनकर वो बच्चे (child) की तरफ देखने लगा तो बच्चा बोला,”सर कुछ कम है क्या?”

दुकानदार :-” नही नही, ये तो इस गुड़िया की कीमत (more than the price) से ज्यादा है, ज्यादा मै वापिस देता हूं” यह कहकर उसने 4 सीपें रख ली और बाकी की बच्चे (give back to children) को वापिस दे दी।

बच्चा बडी खुशी से वो सीपें जेब (in pocket) मे रखकर बहन को साथ लेकर चला गया। (Story of Brother and Sister)

यह सब उस दुकान का नौकर (worker) देख रहा था, उसने आश्चर्य से मालिक से पुछा, ” मालिक ! इतनी महंगी गुड़िया (costly doll) आपने केवल 4 सिपों के बदले मे दे दी ?”
दुकानदार हंसते (smile) हुये बोला,

5 टिप्स करियर में कामयाबी के लिए

इन स्किल्स को सीखे, कभी नहीं होगी नौकरी की कमी

“हमारे लिये ये केवल सीप है पर उस 6साल के बच्चे के लिये अतिशय मूल्यवान (very precious) है। और अब इस उम्र मे वो नही जानता की पैसे (what is money) क्या होते है ?

पर जब वह बडा होगा ना…
और जब उसे याद आयेगा कि उसने सिपों के बदले बहन को गुड़िया (bought doll) खरीदकर दी थी, तब ऊसे मेरी याद जरुर आयेगी, वह सोचेगा कि,,,,,,
“यह विश्व अच्छे मनुष्यों (good humans) से भरा हुआ है।”

यही बात उसके अंदर सकारात्मक दृष्टीकोण (positive attitude) बढाने मे मदद करेगी और वो भी अच्छा इंन्सान बनने के लिये प्रेरित (motivate) होगा

दोस्तों, आप यह Article Prernadayak पर पढ़ रहे है. कृपया पसंद आने पर Share, Like and Comment अवश्य करे, धन्यवाद!!

Hindi Kahaniya   | Kahaniya in Hindi  | Pari ki Kahani  | Moral Stories in Hindi  | Parilok ki Kahani  | Jadui Pariyon ki Kahani | Pari ki Kahani in Hindi | Prernadayak Kahaniya | Motivational Stories in Hindi | Thumbelina Story in Hindi | Rapunzel ki Kahani | Cinderella ki Kahani | Bhoot ki Kahani | Pariyon ki Kahani | Jadui Chakki Ki Kahani | Short Moral Stories in Hindi | Prernadayak Kahani in Hindi for Students | Motivational Story in Hindi | Short Moral Story in Hindi

 

20 Amitabh Bachchan Quotes In Hindi

20 Anmol Prernadayak Vachan | 20 अनमोल प्रेरणादायक वचन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *