अपनी बुराइयाँ और दूसरों की अच्छाइयाँ देखो – Hindi Kahani
Hindi Kahani Hindi Story

अपनी बुराइयाँ और दूसरों की अच्छाइयाँ देखो – Hindi Kahani

अपनी बुराइयाँ और दूसरों की अच्छाइयाँ देखो – Hindi Kahani जब ब्रह्मा जी सृष्टि रचने लगे, तब उन्होंने सोचा कि यदि मेरे काम की अच्छाइयाँ-बुराइयाँ बताने वाला कोई होता, तो अच्छा रहता। उन्होंने सृष्टि रचने का काम रोक कर एक टीकाकार को गढ़ा और उससे बोले-“देखो भाई, तुम्हारा काम यह है कि जो-कुछ मैं बनाऊँ, […]