महाभारत की दो घटनाएं - हिंदी कहानी
Hindi Kahani Hindi Story

महाभारत की दो घटनाएं – हिंदी कहानी

महाभारत की दो घटनाएं – हिंदी कहानी दोस्तों आज हम आपको बताने जा रहे बहुत छोटे पर बहुत दम रखने वाले महाभारत से जुड़े ऐसे दो वाकया जो आपको जीवन के बारे में काफी कुछ बताएँगे. (महाभारत की दो घटनाएं) कोई काम छोटा बड़ा नहीं है – महाभारत की दो घटनाएं पाण्डव राजसूय यज्ञ कर […]

पुरुषार्थ - भारतीय इतिहास की एक घटना
Hindi Kahani Hindi Story

पुरुषार्थ – भारतीय इतिहास की एक घटना

पुरुषार्थ – भारतीय इतिहास की एक घटना दो राज्यों के शासकों के बीच युद्ध की तैयारियाँ हो रही थीं। दोनों ही शासक एक सन्त के भक्त थे। दोनों ही उस सन्त के पास अलग-अलग समय में विजय का आशीर्वाद माँगने गये। (पुरुषार्थ) एक शासक उस सन्त के पास पहुँचा। सन्त ने आँखें बन्द करके भगवान् […]

खण्ड दन्त चाणक्य - हिंदी कहानी
Chanakya Niti Hindi Kahani Hindi Story

खण्ड दन्त चाणक्य – हिंदी कहानी

खण्ड दन्त चाणक्य – हिंदी कहानी चाणक्य राजा चन्द्रगुप्त मौर्य के प्रधान मन्त्री थे। उनके बचपन की एक घटना है। (खण्ड दन्त चाणक्य ) एक दिन उनकी माँ उनका मुँह देख कर रोने लगी। चाणक्य ने पूछा- “माँ! तू क्यों रोती है?” माँ ने कहा- “तेरे भाग्य में राजा होना लिखा है, इसलिए रोती ‘ […]

सेवा हो तो ऐसी - हिंदी कहानी
Heart Touching Stories in Hindi Hindi Kahani Hindi Story

सेवा हो तो ऐसी – हिंदी कहानी

सेवा हो तो ऐसी – हिंदी कहानी पुरानी घटना है, उन दिनों की, जब प्लेग नाम की एक महामारी फैला करती थी। प्लेग रोग में गिलटियाँ निकल आती थीं। अगर इलाज न हुआ, तो गिलटियाँ रोगी की जान ले लेती थीं। (सेवा हो तो ऐसी) एक बार मुलतान में प्लेग फैल गया। एक थे पण्डित […]

अपनी ओर निहारो - हिंदी कहानी
Heart Touching Stories in Hindi Hindi Kahani Hindi Story

अपनी ओर निहारो – हिंदी कहानी

अपनी ओर निहारो – हिंदी कहानी उड़ीसा प्रान्त की घटना है। सन् 1850 में वहाँ बहुत भीषण अकाल पड़ा। एक गरीब परिवार में दो बच्चे और उनकी माँ रहा करते थे। माँ बच्चों के लिए भीख माँगती थी। जो-कुछ मिलता, उसे पहले बच्चों को खिलाती थी; अगर कुछ बच जाता, तो खुद खा लेती, नहीं […]

राम भरत बनना, कौरव नहीं - हिंदी कहानी
Hindi Kahani Hindi Story Mahabharat

राम भरत बनना, कौरव नहीं – हिंदी कहानी

राम भरत बनना, कौरव नहीं – हिंदी कहानी रामायण की घटना है। भगवान् राम वनवासी हो गये। भरत ने सुना कि उन्हीं के कारण भगवान् को वन जाना पड़ा, तो अपने को धिक्कारते हुए उनसे मिलने चल दिये। (राम भरत बनना) भगवान् के चरणों पर गिर कर रोते हुए भरत बोले-“नाथ, अयोध्या का राज्य आपका […]

अपनी वस्तु अपनी नहीं है - हिंदी कहानी
Hindi Kahani Hindi Story

अपनी वस्तु अपनी नहीं है – हिंदी कहानी

अपनी वस्तु अपनी नहीं है – हिंदी कहानी राजा रन्तिदेव बड़े दानी थे। उनके द्वार पर आया हुआ कोई भी याचक खाली हाथ नहीं लौटता था। एक बार अकाल पड़ा। रन्तिदेव ने जी-भर कर अन्न-धन लुटाया। धीरे-धीरे करके राज्य का कोष खाली होने लगा। अत्र चुक गया। धन खत्म हो गया। अब क्या दें याचकों […]

वह साथी - हिंदी कहानी
Heart Touching Stories in Hindi Hindi Kahani Hindi Story

वह साथी – हिंदी कहानी

वह साथी – हिंदी कहानी रमेश रेलवे स्टेशन पर पालिश किया करता था। उसकी उम्र तो खेलने-कूदने की थी, लेकिन गरीबी ने उसे पालिश-वाला बना दिया था। (वह साथी) पालिश करने वाले लड़के अक्सर चलती रेलगाड़ियों पर चढ़ते-उतरते हैं। एक दिन चलती रेलगाड़ी से उतरते समय उसका पैर। फिसल गया। उसका एक पैर बुरी तरह […]