Shri Ram Aarti - आरती श्री रामचन्द्रजी - Bhagwan Ram Aarti Lyrics
Bhajan Ramayan

Shri Ram Aarti – आरती श्री रामचन्द्रजी

Shri Ram Aarti – आरती श्री रामचन्द्रजी Shri Ram Aarti श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन, हरण भवभय दारुणम्। नव कंज लोचन, कंज मुख कर कंज पद कंजारुणम्॥ श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन कन्दर्प अगणित अमित छवि, नव नील नीरद सुन्दरम्। पट पीत मानहुं तड़ित रूचि-शुचि नौमि जनक सुतावरम्॥ श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन भजु दीनबंधु […]