खून की कमी की पहचान कैसे हो? – Understand Lack of Blood in Body
Health India News Internet

खून की कमी की पहचान कैसे हो? – Understand Lack of Blood in Body

खून की कमी की पहचान कैसे हो?Understand Lack of Blood in Body

जब भी किसी इन्सान के शरीर में खून की कमी (lack of blood) हो जाती है तो उसकी पाचन शक्ति कम हो जाती है। वह जो कुछ खाता है उसे हज़म नहीं होता। उसे थोड़ा सा काम करने से ही थकावट महसूस होने लगती है। नाखुनों का रंग सफेद होने लगता है।

पेट में खराबी शुरु हो जाती है। इसका अर्थ यह होता है कि मानव शरीर में लोह तत्वों की कमी आ गयी है। ऐसे में आप लोहा तो खा नहीं सकते। लोह तत्व तो हमें खाने से ही मिलते है।

लोह तत्व टमाटर, सरसों का साग, पालक, शहद तथा हरी ताजा सब्जियों में ही अधिक मिलते हैं।

इसलिये जिन लोगों के शरीर में लोह तत्वों की कमी हो जाए तो उन्हें अपने खाने पीने में सब्जियों और फलों का प्रयोग आधकस अधिक करें। लोह तत्वों की मात्रा इस प्रकार से प्राप्त करते हैं.

हमारे भोजन में लोह तत्व – Iron Elements in Food

हम जो भोजन खाते हैं यदि हमें उसके बारे में ज्ञान हो तो हम अपनी शक्ति प्राप्त कर सकते हैं। जिस भोजन का मजा . उसका ज्ञान इस प्रकार है।

लोह तत्व हमारे शरीर के लिए अति आवश्यक है परन्त iron का हम खा नहीं सकते और न ही पी सकते हैं। जब भी किस आदमी को हम यह कहते हैं कि आपके शरीर में लोह तत्व का कमी हो गयी है आपको लोह तत्वों की आवश्यकता है।

तो वह आश्चर्य से, आपकी ओर देखेगा, हो सकता है कोई भद्र पुरुष आपको यह भी बोल दे कि

“कहीं आप पागल तो नहीं हो गए, क्या मैं आपको लोहा खाने वाला लगता हूं।’

वास्वतव में ही ऐसा होता है, इन डाक्टरी बातों की आम आदमी को यदि समझ आ जाए तो वे रोगी ही क्यों बने!

इसलिए मैं आम आदमी के ज्ञान की बात करते हुए उन्हें यह बता देना चाहता हूं कि हमारे खून में जो जीवन के तत्व हैं उनमें से लोह तत्व भी एक विशेष है।

इस लोहे को कैसे प्राप्त करना है?’

यह लोहा हमें भोजनों द्वारा प्राप्त होता है नहीं तो आजकल के डाक्टर लोग आपको इंजैक्शन लगाकर यह कमी पूरी करेंगे अथवा कुछ गोलियां कैप्सूल देकर नोट बटोर लेंगे। – Lack of Blood

देखा जाए तो हमारे देश में किसी चीज़ की कमी नहीं है। धनवन्तरी जैसे वैद्य भी यही पैदा हुए हैं जिन्होंने अपनी जड़ी-बूटियों की शक्ति से लक्ष्मण जी को मृत्यु की गोद से वापस बुला लिया था। दुःख तो इस बात का है कि हम अपने ही देश में रहकर अपनी गुणकारी जड़ी बटियों का ज्ञान नहीं रखते।

पश्चिमी चिकित्सा का बढ़ता मोह हमारी इस अनमोल सम्पत्ति का शत्रु बन गया है। यही नहीं मैंने तो यह भी देखा है कि धनवानों के घरों में यदि किसी को ज़रा सी खांसी भी आती है तो डाक्टरों के पास भागे जाते है। – Lack of Blood

जुकाम होने पर डाक्टरों को भी घरों पर बुलाया जाता है जबकि हमारे देश के वैद्य हकीम ऐसी बीमारियों का उपचार सौफ मुलटी जैसे काढे से ही कर लिया करते थे नहीं कई लोग तो इन बीमारियों की प्रवाह ही नहीं किया करते थे।

यही कारण है कि मानव शरीर के अंदर लोह तत्वों की कमी को कई लोग बहुत गंभीरता से लेते हैं जबकि यही लोह तत्व हमारे अपने ही आस-पास बिखरे पड़े है उनका ज्ञान न होने के कारण ही हम उन के लाभ से वंचित है।

लोह तत्व कैसे मिलते हैं।

  • पालक
  • टमाटर
  • शहद
  • सरसों का साग
  • मूली के पत्ते
  • गाजर
  • चौलाई
  • धनिया हरा

सूखे फल दालें

  • सोयाबीन
  • सूखी दालें
  • मटर दाने
  • उबला हुआ बथुआ

हमारे स्वस्थ शरीर के लिये हर रोज़ 15 से 20 मिली ग्राम लोह तत्वों की आवश्यकता होती है जो इन चीजों के प्रयोग से प्राप्त किए जा सकते हैं।

इन खनिजों को लोहा तत्व क्यों कहते हैं?

इन खनिजों के अंदर लोहे का अर्थ होता है कि इन में लोहे जैसी मजबूत शक्तियां पायी जाती हैं। जिससे मानव शरीर भी लोहे जैसा बन जाता है।

दोस्तों, आप यह Article Prernadayak पर पढ़ रहे है. कृपया पसंद आने पर Share, Like and Comment अवश्य करे, धन्यवाद!!

10 Sign of Intelligent Person | बुद्धिमान व्यक्ति के कुछ संकेत क्या हैं?

11 कुछ जरूरी बातें – Important Health Tips

2 Replies to “खून की कमी की पहचान कैसे हो? – Understand Lack of Blood in Body

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *